World Bicycle Day 2021: कोरोना महामारी में अनुकूल है साइकिल राइड

0
46

आज विश्व साइकिल दिवस है। हर साल 3 जून को इसे मनाया जाता है। अप्रैल 2018 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने हर साल 3 जून को ‘विश्व साइकिल दिवस’ मनाने का निर्णय लिया। इस दौरान संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों, राजनयिकों, एथलीटों, साइकिलिंग समुदाय के अधिवक्ताओं सहित बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया था। पिछले तीन सालों में इस दिन को मनाने के लिए एक विषय तय किया जाता है, जिसका ध्यान रखते हुए सभी देश इस दिन को मनाते हैं।

इस बार ‘वर्ल्ड बाइसिकल डे 2021’ की थीम ‘यूनीकनेस, वर्सेटैलिटी, लॉन्गिविटी ऑफ द बाइसिकल एंड सिंपल, सस्टेनेबल, एफोर्डेबल मीन्स ऑफ ट्रांसपोर्टेशन’ रखी गई है जो कि पूरी तरह से लोगों को साइकिल चलाने के प्रेरित कर रही है। साथ ही यह बता रहा है कि साइकिल चलाना कितना किफायती भी है। साइकिल चलाकर हम ईधन को भी बचा सकते हैं। यह पर्यावरण के अनुकूल है, साथ ही शरीर को स्वस्थ रखने में भी अहम भूमिका निभाती है। इसके अलावा साइकिल की कीमत बजट में भी रहती है और इसे चलाने के लिए फ्यूल पर खर्चा नहीं करना पड़ता है।

साइकिल (Bicycle) मैन्युफैक्चरर्स के लिए यह वित्त वर्ष मुनाफे के लिहाज से बेस्ट साल बनने की ओर है। इसकी वजह कोरोना महामारी आने के बाद से लोगों के बीच अपने स्वास्थ्य को लेकर बढ़ी जागरुकता है। भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा साइकिल मार्केट (Cycle Market) है। 2019 तक गुजरे 5 वित्त वर्षों में साइकिल की बिक्री (Bicycle sale) ने लगभग 5 फीसदी की हल्की कंपाउंड सालाना ग्रोथ रेट दर्ज की।

आप अगर वेट लॉस या फिट रहने के लिए टिप्स अपनाते रहते हैं, तो अपने वर्कआउट प्लान में साइकिलिंग भी शामिल कर लें। रोजाना साइकिलिंग करके के कई जबरदस्त फायदे हैं। योग और एक्सरसाइज की तरह की साइकिलिंग करना भी एक फिजिकल एक्टिविटी है, जिससे हार्ट और फेफड़े दोनों स्वस्थ रहते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं सुबह के समय साइकिलिंग करने से शरीर में दिनभर एनर्जी बनी रहती है और रात को बहुत अच्छी नींद आती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here