पश्चिम-बंगाल : आज 12 घंटे का बंद, वामपंथी दलों के छात्र संगठनों पर लाठीचार्ज-आंसू गैस के बाद गरमायी राजनीति

0
95

बीजेपी के साथ अब वामपंथी दलों ने भी ममता बनर्जी से अपनी नाराजगी खुलकर जाहिर कर दी है. वामपंथी दलों का आरोप है कि ममता सरकार छात्र-छात्राओं व नौजवानों को प्रताड़ित कर रही है. वामपंथी दलों का आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस सरकार की पुलिस दमन का रास्ता अख्तियार कर ली है.

12 फरवरी को 12 घंटे के बंद का अपील

पुलिस की कार्रवाई में 500 से अधिक लोगों के घायल होने के विरोध में वामदलों ने शुक्रवार (12 फरवरी) को 12 घंटे के बंद का अपील किया है. ये लोग शिक्षा व रोजगार समेत अन्य मांगों के समर्थन में राज्य सचिवालय नबान्न अभियान पर निकले थे.

CPM की नजर में तृणमूल-बीजेपी में कोई अंतर नहीं

मुजफ्फर अहमद भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में हड़ताल का एलान करते हुए माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य मोहम्मद सलीम ने कहा कि छात्र व नौजवानों की जायज मांगो पर ममता बनर्जी की सरकार ने वही किया, जो टिकरी सीमा पर आंदोलन कर रहे किसानों के प्रति अमित शाह की पुलिस ने अपनाया. मोहम्मद सलीम ने कहा कि ममता बनर्जी और अमित शाह में या भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस में कोई अंतर नहीं है.

पुलिस कार्रवाई का विरोध

ममता बनर्जी की सरकार की पुलिस की इस कार्रवाई का पुरजोर विरोध हैं. उन्होंने वामपंथी दलों के अलावा सभी धर्मनिरपेक्ष व समान विचारधारा वाली पार्टियों से इस हड़ताल को सफल बनाने की अपील की. हड़ताल सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक बुलायी गयी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here