सीएम योगी का रास्ता रोकने का वीडियो वायरल, झूठे दावे के साथ वायरल हुआ वीडियो, जानिए हकीकत

0
24
UPCM Yogi Adityanath

उत्तर प्रदेश में भी कोरोना का हाल खराब है इसी बीच कोविड व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच रहे हैं। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी रविवार को मेरठ के बिजौली पहुंचे जहां उन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं का निरीक्षण किया, साथ ही एक कोविड मरीज के परिवार का हाल भी जाना। लेकिन सीएम योगी के इसी दौरे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसके साथ दावा किया जा रहा है कि बिजौली में नाराजगी जताते हुए एक बुजुर्ग ने अपनी गली में खाट लगाकर योगी को अंदर आने से रोक दिया। योगी के कई बार कहने पर भी बुजुर्ग ने रास्ता नहीं खोला जिसके बाद मुख्यमंत्री को वापस जाना पड़ा।

वायरल वीडियो का सच

वीडियो में साफ देखा जा रहा है कि खाट के एक तरफ योगी आदित्यनाथ कई लोगों के साथ खड़े हैं और दूसरी तरफ खड़े एक बुजुर्ग व्यक्ति से कुछ बात कर रहे हैं। वीडियो के आखिर में योगी बाकी लोगों के साथ वापस लौटते नजर आ रहे हैं। जब वीडियो की पड़ताल की गई तो किया जा रहा दावा भ्रामक पाया गया। वीडियो में दिख रहे बुजुर्ग ने खुद ये बात कही है कि उन्होंने योगी आदित्यनाथ को नहीं रोका था। मेरठ पुलिस की तरफ से भी इसे अफवाह बताया गया है।

पड़ताल में मेरठ पुलिस का एक ट्वीट मिला जिसमें इस दावे का खंडन किया गया था। पुलिस का कहना है कि मुख्यमंत्री बिजौली के एक कंटेनमेंट जोन में एक कोविड पीड़ित परिवार के सदस्य से मिले और उनकी कुशलता पूछी। साथ ही, पुलिस ने लिखा है कि कंटेनमेंट जोन होने के कारण गली में खाट और रस्सी बंधी है।

बता दें कि अगर वायरल वीडियो को भी ध्यान से देखें तो लोगों के हावभाव या बॉडी लैंग्वेज से ऐसा बिलकुल नहीं लगता कि गली में योगी के अंदर घुसने को लेकर कोई विवाद हो रहा हो। जबकि वीडियो में योगी के समर्थन में नारे सुनाई दे रहे हैं। यानी पड़ताल में साबित होता है कि वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है, ये दावा मनगढ़ंत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here