बिहार: चलते-चलते महाबोधि एक्सप्रेस के 2 डिब्बे इंजन से हुए अलग, यात्रियों में मचा हड़कंप, बड़ा हादसा टला

0
48

बिहार के रोहतास जिले में शनिवार (3 दिसंबर) को गया से दिल्ली जाने वाली महाबोधि एक्सप्रेस की कपलिंग खुलने से चलती ट्रेन से दो डिब्बे अलग हो गए. लोगों की मानें, तो चलती ट्रेन में अचानक जोरदार धमाका हुआ. इसके बाद जब लोगों ने बाहर आकर देखा, तो स्लीपर कोच के दो डिब्बे S-8 और S-9 ट्रेन से अलग हो चुके थे. यह नजारा को देखकर लोगों में हड़कंप मच गया. हालांकि इस हादसे में किसी की हताहत की सूचना नहीं है. घटना गया-डीडीयू दीनदयाल उपाध्याय रेलखंड के करवंदिया स्टेशन के पास की है. घटना के बाद महाबोधि एक्सप्रेस 3.40 मिनट से लेकर 4.22 मिनट तक रुकी रही. दोनों बोगियों को ट्रेन में जोड़ने के बाद गाड़ी सकुशल सासाराम रेलवे स्टेशन पहुंची है.

खबरों के मुताबिक पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलखंड के सासाराम और डेहरी ऑन सोन स्टेशन के बीच करवंदिया रेलवे स्टेशन के पास अप-लाइन की महाबोधि एक्सप्रेस 12397 ट्रेन का कपलिंग अलग हो जाने से बड़ा हादसा टल गया. डेहरी ऑन सोन से जब ट्रेन सासाराम की ओर बढ़ी. इसी बीच करवंदिया रेलवे स्टेशन के पास महाबोधि एक्सप्रेस के स्लीपर कोच S-8 और S-9 कोच के बीच का प्रेशर पाइप केप्लर सहित अलग हो गया, साथ में उसका केप्लर भी पूरी तरह खुल गया. इसके चलते कोच ट्रेन से अलग हो गई, लेकिन ड्राइवर और गार्ड के सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया. इस दौरान लगभग 42 मिनट तक ट्रेन रुकी रही. बाद में अभियंत्रण विभाग ने ट्रेन के सफर को ठीक-ठाक किया. इसके बाद ट्रेन आगे की ओर रवाना हो गयी. इस प्रकार इस घटना में कहीं कोई हताहत नहीं हुई, लेकिन एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया.

वहीं, सूचना के बाद RPF और GRP की टीम भी मौके पर पहुंची. GRP के थानाध्यक्ष मो. ख्वाजा मोइनुद्दीन खान ने बताया कि अब सब कुछ सामान्य हो गया है. सासाराम और डेहरी ऑन सोन रेलवे स्टेशन के बीच करवंदिया रेलवे स्टेशन के पास आज महाबोधि एक्सप्रेस अप लाइन में दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बच गई. जब उसकी दो बोगी के बीच का संपर्क टूट गया. कोच संख्या S-8 और S-9 के बीच का कपलर अलग होने से ट्रेन दो भागों में बट गई. रेलवे के समय के अनुसार 15:40 से लेकर 16:22 तक कुल 42 मिनट तक इस दौरान ट्रेन रुकी रही. फिर रेलवे के अभियंत्रण विभाग के इंजीनियरों ने मौके पर पहुंचकर ट्रेन को जोड़ा, उसके बाद ट्रेन दिल्ली की ओर बढ़ चली. इधर, इस लापरवाही की रेल प्रशासन जांच कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here