ताउते चक्रवाती तूफान ने गोवा को पार किया, मुंबई समेत 7 राज्यों में तूफान का खतरा

0
30
Taut cyclonic storm

अरब सागर में उठे चक्रवात ‘तौकते’ से दक्षिण और पश्चिम भारत ज्यादा प्रभावित है। गुजरात और महाराष्ट्र समेत सात राज्यों पर अरब सागर में बन रहा है तूफानी तूफान ताउते। इस तूफान का कर्नाटक के 6 जिलों पर बहुत बुरा असर पड़ा जिसकी वजह से कई गांव इसकी चपेट में आ गए। खबरों की मानें तो अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है। इन सभी जिलों में पिछले 24 घंटों से लगातार भरी बारिश हो रही है। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा हालात पर लगातर नजर बनाए हुए हैं।

Taut cyclonic storm

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी चक्रवात ‘तौकते’ के मद्देनजर राज्य के तटीय जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है और इस बात का भी ध्यान रखा जा रहा है कि आने वाले तूफान के कारण कोरोना से संक्रमित मरीजों को किसी भी तरह की कोई परेशानी ना हो, क्योंकि तेज बारिश और हवा के कारण बिजली जा सकती है। इसलिए शासन ने पहले से चुस्त हो गई है।

मौसम विभाग के अनुसार, अगले 12 घंटों के दौरान यह तूफान बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है। यह तूफान 18 मई की सुबह गुजरात के पोरबंदर और महुआ कोस्ट के बीच से गुजरेगा। इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने चक्रवात को लेकर अहम बैठक बुलाई। इसमें राहत और बचाव कार्यों की तैयारियों की समीक्षा की गई। इस वर्चुअल बैठक में महाराष्ट्र और गुजरात के मुख्यमंत्रियों के अलावा दमन और दीव और दादरा नगर हवेली के अधिकारी भी इसमें शामिल हुए।

आईएमडी ने बताया कि दक्षिण महाराष्ट्र-गोवा तथा इससे सटे हुए कर्नाटक के तटों पर हवा की गति 70-80 से लेकर 90 किलोमीटर प्रतिघंटे तक हो सकती है और 16 मई को उत्तर महाराष्ट्र के तटों के पास हवा की गति 40-50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। उसने बताया कि वायु की गति महाराष्ट्र के तट पर 17 मई से 18 मई की सुबह तक 65-75 किलोमीटर से लेकर 85 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है।

Taut cyclonic storm
NDRF की 53 टीमें अलर्ट पर

NDRF के महानिदेशक एसएन प्रधान ने NDRF की 53 टीमों को केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में तैनात किया जा रहा है।

तूफान की संभावना को देखते हुए भारतीय वायुसेना भी अलर्ट मोड में है। वायुसेना ने 16 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट और 18 हेलिकॉप्टर को राहत और बचाव कार्य के लिए तैयार रहने के लिए कहा है। गुजरात के कच्छ और सौराष्ट्र के समुद्री इलाकों में साइक्लोन को लेकर कोस्ट गार्ड अलर्ट पर है। साथ ही मछुआरों को समंदर से दूर रहने की चेतावनी दी गई है।

ये भी पढ़ें –नुसरत ने छोटे पर्दे से की थी शुरुआत , लगातार फ्लॉप फिल्मों के बाद भी नुसरत भरूचा ने नहीं मानी थी हार !

Download-Local Vocal Hindi News App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here