छोटी सी उम्र में पकड़ा था रैकेट, जीता पद्म श्री पुरस्कार

0
16

पीवी सिंधु का जन्म 5 जुलाई 1995 को हैदराबाद में हुआ था। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 2009 में की थी। पीवी सिंधु ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना पहला पदक 2009 में जीता था। पीवी सिंधु के माता पिता वॉलीबॉल खिलाड़ी थे, लेकिन बेटी ने अपने माता पिता के नक्शे कदमों पर न चलकर बैडमिंटन को अपना करियर चुना। पीवी सिंधु के पिता पीवी रमन्ना को अर्जुन पुरस्कार मिल चुका है। पीवी सिंधु ने अपनी पढाई मेहंदीपट्टनम के सेंट एन कॉलेज से पूरी की हैं।

बता दें सिंधु ने पुलेला गोपीचंद से इंस्पिरेशन लेकर शटलर बनने का फैसला किया था। सिंधु ने 8 साल की उम्र में बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था। उन्होंने सिकंदराबाद के रेलवे इंस्टीट्यूट से कोच महबूब अली से ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दी थी। सिंधु ने इसके बाद हैदराबाद में पुलेला गोपीचंद की गोपीचंद अकादमी में प्रशिक्षण शुरू किया।

पीवी सिंधु ने 2009 में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना पहला पदक जीता। इसके बाद उन्होंने 2013 में विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। उन्होंने 2014 विश्व चैंपियनशिप, एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीते। उन्होंने 2016 में रियो डी जनेरियो ओलंपिक और 2017 में विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीते। पीवी सिंधु को अर्जुन पुरस्कार,पद्म श्री पुरस्कार और राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here