रूसी सुरक्षा एजेंसी के हत्थे चढ़ा ISIS का आत्मघाती हमलावर! भारत सरकार की बड़ी हस्ती को उड़ाने की फिराक में था

0
80

रूसी सुरक्षा एजेंसी ‘फेडरल सिक्योरिटी सर्विस’ (FSB) ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट (ISIS) के एक सुसाइड बोम्बर को गिरफ्तार किया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जिस सुसाइड बोम्बर को गिरफ्तार किया गया है उसने भारत के सत्ताधारी भाजपा के किसी बड़े नेता को मारने का प्लान बना रहा था, लेकिन उससे पहले ही रूसी सुरक्षा एजेंसी ने उसे गिरफ्तार कर लिया है.

रूसी न्यूज एजेंसी RIA नोवोस्ती ने FSB की तरफ से जारी बयान का हवाला देते हुए कहा कि सोमवार (22 अगस्त) FSB ने खूंखार अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट (ISIS) का एक फिदायनी को पकड़ा है, जो एक सुसाइड बोम्बर है और भारत सरकार में किसी बड़े शख्सियत को उड़ाने की फिराक में था.

FSB ने अपने बयान में कहा, रूस में प्रतिबंधित अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट (ISIS) से जुड़े एक आतंकी की पहचान की है, जिसके बाद उस हिरासत में ले लिया गया है. एजेंसी ने बताया कि आतंकी की पहचान मध्य एशियाई देश के एक मूल निवासी के रूप में हुई है और अप्रैल-जून महीने के दरमियान उसने तुर्की में आत्मघाती हमले की ट्रेनिंग ली. यह ट्रेनिंग उसे टेलीग्राम की जरिए ली है और यहीं से वह आतंकी संगठन ISIS से जुड़ा था.

बता दें, भाजपा से निलंबित नेता नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए विवादित बयान से भड़का इस्लामिक स्टेट की ओर से भारत में बड़े हमले की धमकी दी गई थी. इधर, विरोध बढ़ता देखकर भारत सरकार ने नूपुर शर्मा को उनके पद से हटा दिया था, लेकिन उसके बाद से ही नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकी मिल रही है. इतना ही नहीं, नूपुर का समर्थन करने वालों को भी इसी बीच हत्या कर दी गई.

बता दें, इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट या इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया के नाम से भी जाना जाता है. साल 2013 में यह आतंकी संगठन अस्तित्व में आया था. यह दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी और अमीर आतंकी संगठन माना जाता है. इसका बजट दो अरब डॉलर का बताया जाता है. 2014 में इसने अपने मुखिया अबु बक्र अल बगदादी को दुनिया के सभी मुसलमानों का खलीफा घोषित किया था. ईराक और सीरिया के बड़े हिस्से पर इस आतंकी संगठन का कब्जा माना जाता है. इन जगहों पर आतंकी संगठन पुराना इस्लामी कानून चलाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here