महिला सांसद ने पहना बेहद फिटिंग ‘ट्राउजर’, तो अध्यक्ष महोदय ने दिखा दिया बाहर का रास्ता

0
42
Lady MP

अफ्रीकी देश तंजानिया से एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसे सुनकर हर कोई हैरान है. दरअसल, तंजानिया की संसद में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक महिला सांसद को कपड़ों की वजह से संसद से बाहर कर दिया गया. खबरों के मुताबिक महिला सांसद कॉन्डेस्टेर मिशेल सिचवाले को इसलिए बाहर कर दिया गया क्योंकि वो बेहद टाइट ट्राउजर पहन कर संसद पहुंच गई थीं. उनसे यहां तक कह दिया गया कि उनका पहनावा नॉन पॉर्लियामेंट्री है. कॉन्डेस्टेर मिशेल सिचवाले सत्‍तारूढ़ सीसीएम पार्टी की सदस्‍य हैं और मंत्री भी हैं. कोंडेस्‍टेर के खिलाफ उनकी ही पार्टी के एक पुरुष सांसद हुसैन अमार ने शिकायत की थी. वहीं, इस घटना देश की अन्‍य महिला सांसद भड़क उठी हैं.

 lady MP

दरअसल, सांसद अमार की शिकायत के बाद संसद के अध्यक्ष जॉब न्डुगई ने उनके कपड़ों को लेकर अपत्ति जताई और उनसे कह दिया कि आप सदन से बाहर चली जाएं और सही कपड़ा पहनकर तब वापस आएं. अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि कॉन्डेस्‍टेर संसद से वापस जाने के बाद लौटीं या नहीं. हालांकि अध्यक्ष के इस आदेश के बाद संसद में मौजूद अन्‍य महिला सांसद भड़क उठीं और उन्‍होंने इसे अन्‍याय करार देते हुए माफी मांगने की मांग की है.

 lady MP

कॉन्डेस्‍टेर के संसद से जाने की तस्‍वीरें सोशल मीडिया आग की तरह वायरल हो रही हैं. बताया जा रहा है कि यह शर्मनाक घटना उस समय हुई जब तंजानिया की राजधानी डोडोमा में संसद के अंदर एक बहस चल रही थी. इसमें कॉंन्डेस्‍टेर और सांसद हुसैन अमार दोनों ही हिस्‍सा ले रहे थे. जैसे ही संसद का सत्र खत्‍म हुआ अमार अपनी जगह से खड़े हुए और अध्यक्ष जॉब न्‍डुगई से अपील की कि वह ‘शालीन’ ड्रेस के लिए दिशा निर्देश जारी करें.

 lady MP

हुसैन अमार ने कहा, ‘ड्रेस को लेकर कोड स्‍पष्‍ट है लेकिन यहां पर सांसद ऐसे ड्रेस पहन रही हैं जो ‘शालीन’ नहीं हैं. यह पूछे जाने कि अमार किसकी ओर इशारा कर रहे हैं, इस पर उन्‍होंने कॉंन्डेस्‍टेर की ओर इशारा किया, उन्‍होंने कहा, ‘यह सांसद मेरे दाहिने ओर हैं, उन्‍होंने टी शर्ट पहन रखा है लेकिन प्‍लीस उन्‍हें सामने बुलाया जाए और यह देखा जाए कि उन्‍होंने कितनी टाइट जिन्स पहन रखी है.’

 lady MP

हुसैन अमर का तर्क था कि संसद में समाज की सोच और उसकी झलक दिखती है, उन्होंने संसद के नियमों को हवाला देते हुए ये भी बताया कि क्यों महिलाओं को संसद में टाइट जीन्स पहनकर नहीं आना चाहिए. वहीं स्पीकर जॉब न्डुगई ने कहा कि ये पहली बार नहीं है, जब उन्हें महिला सांसदों के कपड़ों को लेकर इस तरह की शिकायत मिली है. इसे लेकर उन्होंने चैंबर के आदेशवाहकों को ये भी निर्देश दिए हैं कि ऐसे किसी भी व्यक्ति को अंदर ना आने दें, जिसने सही तरीके से कपड़े ना पहने हों.

 lady MP

दूसरी तरफ जिस तरह कॉन्डेस्टर के कपड़ों को अजीबो-गरीब बताकर उन्हें संसद से बाहर कर दिया गया, इसे लेकर दूसरी महिला सांसदों में नाराजगी है और वो इसके खिलाफ प्रदर्शन भी कर रही हैं. महिला सांसदों ने कॉन्डेस्टर को इस तरह नेशनल एसेंबली से बाहर निकाले जाने पर कहा कि इसके लिए माफी मांगी जानी चाहिए. वहीं, सोशल मीडिया पर भी संसद की इस घटना की कड़ी आलोचना हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here