विकराल चक्रवाती तूफान में तब्दील हुआ ‘ताऊ ते’ गुजरात की ओर तेजी से बढ़ रहा ‘ताऊ ते’, अबतक कई लोगों की मौत

0
27
विकराल चक्रवाती तूफान

‘ताऊ ते’ धीरे-धीरे विकराल चक्रवाती तूफान बदलता जा रहा है. ‘ताऊ ते’ तूफान को लेकर पांच राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि अरब सागर में बन रहा ये साइक्लोन भीषण चक्रवाती तूफान में बदल गया है. वहीं लोगों को सुरक्षित रखने के लिए भी तैयारी शुरू कर दी गई हैं. वहीं, भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार 18 मई को चक्रवाती तूफान गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकरा जाएगा. गुजरात के कच्छ और सौराष्ट्र के समुद्री इलाकों में साइक्लोन को लेकर कोस्ट गार्ड को अलर्ट पर रखा गया है.

‘ताऊ ते’ विकराल चक्रवाती तूफान में बदला

भारत मौसम विभाग ने सोमवार को बताया कि तूफान ‘ताउते’ विकराल चक्रवाती तूफान में बदल गया है. आईएमडी ने बताया कि तूफान ने सोमवार को तड़के विकराल रूप धारण कर लिया.

महाराष्ट्र के कई जिलों में अगले तीन घंटों में भारी बारिश

साइक्लोन ताऊ ते की वजह से महाराष्ट्र के कई जिलों में अगले तीन घंटों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई. मुंबई में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

झारखंड पर भी पड़ सकता है असर

अरब सागर में उठे तूफान तौकते का आंशिक असर झारखंड पर भी पड़ सकता है. इस तूफान की वजह से 17 से 19 मई तक राज्य में बादल छाये रह सकते हैं. प्री मॉनसून गतिविधि के कारण कहीं-कहीं गर्जन के साथ हल्की बारिश भी हो सकती है.

8 लोगों की जान गई

अब तक तूफान से प्रभावित इलाकों में 8 लोगों की जान गई है. वहीं सैकडों पेड़ गिरे हैं. साथ ही घरों को भी नुकसान पहुंचा है.

गुजरात की ओर बढ़ रहा चक्रवाती तूफान, मुंबई में बारिश शुरू

केरल, कर्नाटक और गोवा में तबाही मचाने के बाद ‘ताऊ ते’ तूफान गुजरात का रुख कर चुका है. तूफान की आहट के साथ गुजरात के तटीय इलाके में आज और कल भारी बारिश की आशंका है.

मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हुई हल्की बारिश

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि अरब सागर के तटीय इलाकों में सक्रिय चक्रवाती तूफान ‘ताऊ ते’ के चलते रविवार शाम को मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हल्की बारिश हुई.

5-6 राज्यों में एनडीआरएफ की 100 से ज्यादा टीमें तैनात

5-6 राज्यों में एनडीआरएफ की 100 से ज्यादा टीमों को तैनात किया गया है. गुजरात और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान, गृह मंत्री ने कहा कि हमारा लक्ष्य शून्य हताहत होना चाहिए और हम उस पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. हो सकता है, हमें गुजरात में लाखों लोगों को निकालना पड़े. एनडीआरएफ डीजी एसएन प्रधान ने यह जानकारी दी.

17 और 18 मई को गुजरात में बहुत भारी बारिश की संभावना

गुजरात के तटीय इलाकों में 17 और 18 मई को भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है. कुछ स्थानों पर अत्यधिक

भारी वर्षा की भी संभावना है. हवाओं की रफ्तार 155-165 किमी प्रति घंटे से 145 किमी प्रति घंटे होने की उम्मीद है. आईएमडी के डीजी मृत्युंजय महापात्र ने यह जानकारी दी. 1.5 लाख लोगों को गुजरात में निचले तटीय क्षेत्रों से दूसरे जगहों पर पहुंचाया गया है. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 54 टीमें तैनात की गयी हैं.

चक्रवाती तूफान से कर्नाटक में 1 और शख्स की मौत, काफी नुकसान

उत्तर कन्नड़ के 5 तालुकों में 71 घर, 76 मछली पकड़ने वाली नावें और 271 बिजली के खंभे क्षतिग्रस्त हो गये हैं. एक व्यक्ति की मौत भी हुई है. कर्नाटक के मंत्री शिवराम हेब्बार ने यह जानकारी दी.

कोस्ट गार्ड की 40 टीम बचव राहत के लिए तैयार

भारतीय तटरक्षक बल ने बताया कि चक्रवाती तूफान के परिणामों से निपटने के लिए 40 तटरक्षक आपदा राहत दल को नाव के साथ पश्चिमि तट पर तैनात किया गया है. लाइफजैकेट को भी स्टैंडबाय में रखा गया है. चिकित्सा टीमों और एम्बुलेंस को भी तेजी से राहत कार्य के लिए तैयार रखा गया है

चक्रवात तूफान के कारण गोवा के सभी फ्लाइट रद्द

चक्रवाती तूफान के कारण गोवा में मैसम काफी खराब हैं सड़क मार्ग कई जगहों पर अवरुद्ध हुए हैं. सभी एयरलाइन कंपनियों ने गोवा से और गोवा के लिए अपने फ्लाइट को रद्द कर दिया है. गोवा एयरपोर्ट ने यह जानकारी दी.

17 मई की शाम तक गुजरात तट पर पहुंचने की बहुत संभावना

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि इसके उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने और 17 (मई) की शाम तक गुजरात तट पर पहुंचने की बहुत संभावना है और यह 18 मई को तड़के पोरबंदर और (भावनगर जिले में) महुवा के बीच से राज्य के तट को पार करेगा.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने स्थिति का लिया जायजा

कर्नाटक के तटीय जिलों में चक्रवात ‘ताऊ ते’ के तबाही मचाने के मद्देनजर, राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने रविवार को जिला प्रभारी मंत्रियों तथा उपायुक्त को प्रभावित जिलों में दौरा करने एवं बचाव तथा राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री के दफ्तर ने एक बयान में कहा कि येदियुरप्पा ने तटीय जिलों के प्रभारी मंत्रियों तथा उपायुक्तों से रविवार को बात की और स्थिति का जायजा लिया.

पीएमओ की ओर से जारी एक बयान में कहा गया

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री ने चक्रवात से जिन स्थानों के प्रभावित होने की संभावना है वहां के अस्पतालों में कोविड प्रबंधन, टीकाकरण, बिजली की कमी न हो, इसके उपाय और आवश्यक दवाओं के भंडारण के लिए विशेष तैयारियों की आवश्यकता पर बल दिया.

ये भी पढ़ें –नुसरत ने छोटे पर्दे से की थी शुरुआत , लगातार फ्लॉप फिल्मों के बाद भी नुसरत भरूचा ने नहीं मानी थी हार !

Download-Local Vocal Hindi News App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here