अग्निपथ स्कीम के तहत सेना में भर्ती पर बवाल, बिहार में सड़क पर उतरे छात्र, बक्सर में ट्रेन पर पथराव

0
29

केंद्र की मोदी सरकार ने सेना में युवाओं की बहाली के लिए अग्निपथ योजना की शुरूआत की है. इस योजना के तहत सेना में भर्ती होने वाले युवाओं को अग्निवीर के तौर पर 4 साल की सर्विस करने का मौका मिलेगा, लेकिन बुधवार (15 जून) को बिहार के बक्सर और मुजफ्फरपुर जिले में इसका विरोध शुरू हो गया है. बक्सर में युवाओं ने ट्रेन पर पथराव किया. मुजफ्फरपुर में लोग सड़कों पर उतर आए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक पटना जा रही पाटलिपुत्र एक्स-प्रेस पर पथराव किया गया. जिसकी वजह से काशी-पटना जन शताब्दी एक्स-प्रेस करीब 18 मिनट तक प्लेटफॉर्म संख्या एक पर खड़ी रही.

मुजफ्फरपुर में युवाओं ने चक्कर चौक पर आग जलाकर रोड जाम कर दिया है. यहां से करीब आधा किलोमीटर की दूरी पर चक्कर मैदान स्थित है जहां सेना में भर्ती के लिए रैली होती है. सदर थाना के पास भगवानपुर गोलम्बर पर भी बड़ी संख्या में लोग जुटे हुए हैं. वहां पर भी आग जलाकर NH-28 को जाम कर दिया है.

वहीं, विरोध कर रहे युवाओं का कहना है कि महज 4 साल के लिए भर्ती किया जाना रोजगार के अधिकार का हनन करना है.

बता दें, मंगलवार (14 जून) को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने दिल्ली में अग्निपथ स्कीम का ऐलान किया था. इस स्कीम के तहत 17.5 साल से अधिक और 21 साल तक की आयु के युवाओं को अग्निवीर के तौर पर भर्ती किया जाएगा और उन्हें 4 साल के लिए नौकरी मिलेगी. इनमें से ही 25 फीसदी युवाओं को आगे सेना में नियमित नौकरी के लिए चुना जाएगा और इसके लिए अलग से स्क्रीनिंग होगी. अग्निवीर के तौर पर काम करने के बाद सेवामुक्ति पर युवाओं को 11 लाख रुपये का एकमुश्त पैकेज देकर विदा किया जाएगा.

गौरतलब है कि बिहार में अभ्यर्थी पिछले दो साल से सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे हैं, इनमें कुछ ऐसे भी हैं जो मेडिकल टेस्ट में पास हो गए और एग्जाम का इंतजार करते रह गए. कुछ ने एग्जाम भी दे दिया और रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं. रेलवे पुलिस इन अभ्यर्थियों को समझाती नजर आई कि इस तरह प्रदर्शन करने से कोई फायदा नहीं होने वाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here