मास्क नहीं पहने पर यूपी पुलिस ने शख्स के हाथ-पैर में ठोकी कील, एसएसपी ने बताया साजिश

0
35
UP police

इस वक्त हिंदुस्तान में कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप जारी है. सरकार और प्रशासन लगातार लोगों को मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का पाठ पढ़ा रही है. मगर, इन सबके के बीच एक बार फिर से यूपी पुलिस विवादों में घिर गई है. दरअसल, यूपी की राजधानी लखनऊ से करीब ढाई सौ किलोमीटर दूर बरेली जिले की बारादरी पुलिस पर मास्क नहीं लगाने पर एक शख्य के साथ मारपीट करने और हाथ-पैर में कील ठोकने का आरोप लगा है. हालांकि बरेली पुलिस इन सब आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है और पुलिस के मुताबिक शख्स पर विभिन्न आपराधिक धारों के तहत मामले दर्ज है और पुलिस उसकी तलाश कर रही थी.

UP police

बरेली एसएसपी रोहित सिंह साजवान ने बताया कि रंजीत नामक युवक 24 मई को बिना मास्क के घूम रहा था. उसे टोकने पर उसने पुलिसकर्मियों के साथ बदतमीजी की थी. इस प्रकरण में उसके खिलाफ धारा 323, 504, 506, 332 ,353 आईपीसी की धाराओं में थाना बारादरी में मुकदमा दर्ज किया था. घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया था इसके बाद से ही पुलिस उसकी तलाश में दबिश दे रही थी. कल रात भी पुलिस ने आरोपी के यहां दविश दी थी, लेकिन कल भी नहीं मिला, उसने पुलिस से बचने के लिए युवक ने यह नाटक किया. पूरे प्रकरण में अब तक जो दुर्व्यवहार के आरोप लगाए गए हैं इसकी पुष्टि नहीं हुई.

उधर, कील ठोकने की जानकारी होने पर युवक के परिजन उसे लेकर चौकी पहुंचे. आरोप है कि पुलिस कर्मियों ने धमकी दी कि अगर अधिकारियों से बात इस तरह की शिकायत की, तो वह उसे झूठे मुकदमे में जेल भेज देंगे. इसके बाद आज युवक अपने परिजनों के साथ पुलिस ऑफिस पहुंचा, जहां उसने पूरे मामले की शिकायत की.

मिली जानकारी के मुताबिक बारादरी थाना क्षेत्र के जोगी नवादा के रहने वाले बाबू रंजीत सोमवार की रात करीब दस बजे अपने घर बाहर बैठा हुआ था. जहां तीन पुलिसकर्मी पहुंचे और मास्क लगाने को कहा. इस बीच रंजीत का पुलिस कर्मियों से विवाद हो गया और पुलिसकर्मी उसे जबरन अपने साथ ले गए. घटना की जानकारी होने पर परिजन थाने पहुंचे जहां पुलिस कर्मियों ने कहा कि उसे कहीं भेजा है. बाद में पुलिसकर्मी युवक को मरणासन्न अवस्था में फेंक कर चले गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here