वीर सावरकर Controversy के बीच कोच्चि के जुमा मस्जिद से निकले राहुल गांधी!

0
22

कांग्रेस पार्टी को संगठित करने के उद्देश्य से राहुल गांधी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ पर निकले है और आज उनकी यात्रा का 15वां दिन है. ऐसे में उनके स्वागत के लिए कोच्चि में जगह-जगह पर स्वतंत्रता सेनानियों के पोस्टर लगाए है. इन्हीं पोस्टरों में एक पोस्टर पर विवाद छिड़ गया.

दरअसल, कोच्चि के एर्नाकुलम हवाई अड्डे के पास लगाए गए एक पोस्टर में गोविंद बल्लभ पंत और चंद्रशेखर आजाद की तस्वीर के बीच में विनायक दामोदर सावरकर (वीर सावरकर) की भी लगा दी गई. जैसे ही इसकी भनक कांग्रेसियों को लगी, तो उनकी तस्वीर की जगह महात्मा गांधी की तस्वीर लगा दी गई. क्योंकि कांग्रेस स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की घोर विरोधी रही है. इसी बीच राहुल गांधी ने अपने 15वें दिन की यात्रा गुरूवार (22 सितंबर) को कोच्चि के परंबयम जुमा मस्जिद से की है.

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान पोस्टर में वीर सावरकर की तस्वीर सामने आने के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, तस्वीर राहुल गांधी के लिए एक अहसास है. इधर, कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की चाल है, उनके किसी व्यक्ति ने ऐसा जानबूझकर किया है.

बता दें, RSS के विचारक वीर सावरकर की तस्वीर अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के बीच दिखाई दी, तो इस पर सियासत शुरू हो गई. भाजपा ने कहा, ‘कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ पोस्टर पर वीर सावरकर की तस्वीर राहुल गांधी के लिए एक अच्छा अहसास है. हालांकि, कांग्रेस ने इसे छपाई की गलती करार दिया और कहा कि स्थानीय नेता के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की गई है, जबकि विस्तृत जांच की जा रही है.

भाजपा प्रवक्ता अमित मालवीय ने ट्विट पर लिखा, हालांकि देर से सही, लेकिन राहुल गांधी को अहसास तो हुआ, जिनके परदादा नेहरू ने दो सप्ताह में ही पंजाब के नाभा जेल से निकलने के लिए अंग्रेजों के साथ एक दया पर्ची पर हस्ताक्षर किए थे. भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने ट्विट पर लिखा- ‘राहुल जी, आप इतिहास को कितना भी आजमा लें और सच सामने आ गया कि सावरकर वीर थे! जो छुपाते हैं वे कायर हैं.’

इधर, कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भाजपा-RSS के व्यक्ति ने जानबूझकर पोस्टर से छेड़छाड़ की. कांग्रेस इस मामले की की जांच करेगी. कांग्रेस सांसद और ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के राज्य समन्वयक के सुरेश ने कहा, ‘मुझे लगता है कि पोस्टर छापने वाला व्यक्ति भाजपा-RSS का व्यक्ति हो सकता है और उसने जानबूझकर किया. कांग्रेस कार्यकर्ता कभी भी पोस्टर पर सावरकर की तस्वीर नहीं मांगेंगे. हम पूछताछ करेंगे. हमारे नेतृत्व ने कार्रवाई की और तुरंत स्थानीय नेता को निलंबित कर दिया.’

बता दें, कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ 150 दिनों में 3,570 किमी. की दूरी तय करेगी. यह 7 सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई और जम्मू-कश्मीर में जाकर समाप्त होगी. 10 सितंबर को केरल में प्रवेश करने वाली यह यात्रा 1 अक्टूबर को कर्नाटक में प्रवेश करने से पहले 19 दिनों की अवधि में सात जिलों को छूते हुए 450 किमी. की दूरी तय करते हुए विभिन्न राज्यों से होकर गुजरेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here