प्लेन विवाद: राज्यपाल को जहाज नहीं मिलने पर उद्धव ठाकरे ने राजभवन के अधिकारियों पर लगाया लापरवाही का आरोप

0
98

महाराष्ट्र के राज्यपाल को यात्रा करने के लिए सरकारी हवाई जहाज मुहैया नहीं कराने के मसले पर उद्धव ठाकरे ने सफाई दी है. इससे पहले राजभवन ने कहा था कि राज्य सरकार ने उन्हें विमान के उपयोग की अनुमति नहीं दी. इसपर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राजभवन के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए और राजभवन के संबंधित अधिकारी की जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यपाल जैसे सम्मानित व्यक्ति के साथ अच्छा नहीं हुआ. इसके जिम्मेदार राजभवन के अधिकारी हैं. राज्य सरकार ने 10 फरवरी को विमान को इस्तेमाल करने से मना कर दिया था और इस संबंध में राजभवन के अधिकारियों को मुख्यमंत्री कार्यालय में बात करके एक बार पता कर लेना चाहिए था. फिर राज्यपाल के आने का प्रबंध करना चाहिए था.

दरअसल, राजभवन का कहना है कि 2 फरवरी को पत्र लिखकर राज्यपाल द्वारा सरकारी विमान के उपयोग की अनुमति मांगी गई थी. लेकिन, राज्यपाल जब मुंबई एयरपोर्ट पहुंचे और सरकारी विमान में सवार हुए तो उनसे अनुमति नहीं मिलने की बात कही गई. उधर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगह सिंह कोश्यारी को सरकारी विमान से देहरादून की यात्रा करने की अनुमति नहीं देने को लेकर शिवसेना नीत गठबंधन सरकार पर आरोप लगाया कि वह अहंकारी है.

पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने यह आरोप भी लगाया कि राज्य सरकार ने राज्यपाल के संवैधानिक पद का अपमान किया है. वहीं, एमएनएस ने भी इसे राज्यपाल का अपमान बताकर उद्धव ठाकरे सरकार को घेरा है. जानकारी के मुताबिक, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी उत्तराखंड में बीते रविवार हुई त्रासदी का जायजा लेने उत्तराखंड जाना चाहते थे. इसके लिए वह मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचे, लेकिन इस संबंध में उन्हें कोई जवाब नहीं मिला, वे लगभग आधा घंटा वहां इंतजार करते रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here