बाराबंकी: वैक्सीन पर फैल रहा अंधविश्वास, नदी में कूदे लोग, एसडीएम के समझाने पर मजह 14 लोगों ने लगाई वैक्सीन

0
16
corona cases

कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप जारी है. सरकार और प्रशासन लगातार वैक्सीनेशन प्रोग्राम पर जोर दे रही है, ताकी ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगवाई जा सकें. मगर इन सबके बीच लोगों में वैक्सीन को लेकर अंधविश्वास और भ्रम की स्थित बनी हुई है. जिसके चलते वैक्सीनेशन प्रोग्राम पूरी तरह से सफल नहीं हो पा रहा है. इसका जीता-जागता सबूत उत्तर प्रदेश की राजधानी से सटे बाराबंकी में देखने को मिला.

corona cases

दरअसल, रामनगर के सिसौदा गांव में जब स्वास्थ्य विभाग की टीम ग्रामीणों को वैक्सीन लगाने पहुंची, तो वहां पर लोग इतने डर गए और उन्हें वैक्सीन ना लगवानी पड़े. इसके चलते काफी संख्या में ग्रामीण सरयू नदी में कूद गए. यह नजारा देखकर स्वास्थ्य विभाग की टीम के हाथपांव फूल गए और वो ग्रामीणों से बाहर आने का विनती करने लगे, लेकिन ग्रामीण नहीं माने तब एसडीएम के समझाने के बाद ग्रामीण नदी से बाहर आए और वैक्सीन लगवाई. 1500 की आबादी वाले इस गांव में मात्र 14 लोग ही वैक्सीन लगवाने की हिम्मत जुटा सके.

corona cases

यह हाल बाराबंकी का नहीं बल्कि इस तरह कई शहरों में वैक्सीन को लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई है. यहां स्लाट बुक कराने के बाद भी टीकाकरण केंद्रों पर ग्रामीण नहीं पहुंच रहे. इससे दस यूनिट की क्वायल का टीका भी नहीं लग पा रहा. इससे वैक्सीन बर्बाद हो रही है. खासकर महिलाएं एक डोज लेने के बाद दूसरी डोज के लिए तैयार नहीं हैं. ग्रामीणों में तरह-तरह की भ्रांतियां हैं.

corona cases

वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित

इस संबंध में कोरोना टीकाकरण के राज्य समन्वयक और किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ के डॉ. सूर्यकांत का कहना है कि कोरोना वैक्सीन को लेकर फैली नपुंसकता और बीमार होने जैसी खबरें महज भ्रांतियां हैं. टीकाकरण पूरी तरह से सुरक्षित है.

corona cases


1 जून से सभी शहरों में 18 प्लस का वैक्सीनेशन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यूपी के सभी जिलों में एक जून से 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के लिए वैक्सीनेशन का काम होगा. सभी शहरों में न्यायिक अधिकारियों और मीडिया कर्मियों के लिए विशेष कैंप भी लगेगा. वैक्सीनेशन अभी सिर्फ 23 जिलों मे चल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here