कोरोना काल में लोग काढ़े का सेवन बहुत ज्यादा कर रहे हैं, पर क्या ऐसा करना सही है या नहीं, जानें डॉक्टर की राय

0
16
Corona

कोरोना महामारी के कहर से बचने के लिए लोग तरह-तरह के उपाए कर रहे हैं। इस महामारी में लोगों को सबसे ज्यादा जरुरत अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की है। अपनी इम्यूनिटि पॉवर को बढ़ाने के लिए ज्यादातर लोग काढ़े का सहारा ले रहे हैं। लोगों का मानना है कि काढ़ा एक अच्छा विकल्प है इम्यूनिटि को बूस्ट करने का।

काढ़ा का सेवन कर सकते हैं पर कितनी मात्रा में, कितनी बार इसको पीना है, इन सब की सही जानकारी होना बहुत जरुरी है, क्योंकि काढ़ा का ज्यादा सेवन आपकी हेल्थ के लिए हानिकारक भी हो सकता है। सेक्टर-21ए एशियन अस्पताल के गैस्ट्रोलॉजिस्ट डॉ. रामचंद्र सोनी ने गुरुवार को आयोजित सीएमई में यह जानकारी दी।

डॉ के अनुसार कोरोना संक्रमण से बचने के लिए और इस संक्रमण की चपेट में आने के ठीक होने के बाद सबसे ज्यादा जरुरी है आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी मजबूत हो। पिछले दिनों आयुष मंत्रालय और भारत सरकार ने लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़ा पीने की सलाह दी थी। इस दौरान कई ऐसे लोग हैं जो दिन में जितनी बार मन कर रहा है, उतनी बार काढ़े का सेवन कर रहे हैं। इससे कुछ लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है और वे डॉक्टर के पास जा रहे हैं। डॉ. के अनुसार ओपीडी में रोज 15 से 20 मरीज पेट संबंधी समस्याओं को लेकर पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कोरोना वायरस से बचे रहने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना जरूरी है लेकिन काढ़े का सेवन सकारात्मक रूप से करना चाहिए, क्योंकि जिन लोगों ने अपनी दिनचर्या में काढ़ा पीने को शामिल कर लिया है। ऐसे लोगों को पेट में जलन, आंखों में जलन, मुंह में छाले और अपच की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। कई लोग खाने की नली में समस्या लेकर पहुंच रहे हैं। गैस्ट्रिक की समस्या काफी लोगों में सामने आ रही है। इससे बचने के लिए लोगों को डॉक्टरी सलाह पर काढ़े का सेवन करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here