चंडीगढ़ के बाद IIT बाम्बे MMS कांड पर हंगामा, एक गिरफ्तार

0
34

मोहाली की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS कांड के बवाल के बीच भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे (IIT बॉम्बे) में ही ऐसी ही एक हरकत सामने आई है. यहां पर कैंटीन कर्मचारी को कथित रूप से बाथरूम में एक छात्रा का अपत्तिजनक वीडियो बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस में गिरफ्त में आए आरोपी का नाम पिंटू बताया जा रहा है. पिंटू पर बाथरूम के बाहरी हिस्से में लगे नल के पाइप पर चढ़कर वीडियो बनाने का आरोप है. वहीं, इस घटना के बाद IIT बॉम्बे ने कैंटीन को भी बंद कर दिया है. यह घटना बीते रविवार (18 सितंबर) को हॉस्टल नंबर-10 की है. आरोप है कि पिंटू ड्रेनेज पाइप पर चढ़कर बाथरूम की खिड़की से एक छात्रा का वीडियो बना रहा था. पिंटू के खिलाफ IPC की धारा 354 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है और आज (बुधवार) को उसे मैजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया जाएगा.

वहीं, DCP (जोन-10) महेश्वर रेड्डी ने बताया, ‘पिंटू खिड़की से ताक-झांक कर रहा था जब पीड़िता ने उसे नोटिस किया और हॉस्टल अथॉरिटी को अलर्ट किया. आरोपी का फोन सीज कर लिया गया. पवई पुलिस को मोबाइल में कोई वीडियो नहीं मिला, जिसके बाद उसे फरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है.’

इधर, इस घटना के सामने आने के बाद IIT बॉम्बे की क्विक रिस्पॉन्स टीम को हॉस्टल बुलाया गया. वहीं, IIT बॉम्बे ने बयान जारी कर कहा कि उन्होंने संदिग्धों की ओर से इस्तेमाल किए गए नल के पाइप के गैपों को बंद कर दिया है. सुरक्षा के मुद्दों पर कैंपस के छात्रों के साथ चर्चा कर रहे हैं. फिलहाल इस विवादित कैंटीन को बंद कर दिया गया है. अब यह केवल महिला कर्मचारियों की मदद से दोबारा खोली जाएगी.

बता दें, पीड़ित छात्रा ने मीडिया को बताया कि वह देर रात वॉशरूम गई थी. इस दौरान उसे लगा कि खिड़की से कोई मोबाइल के जरिए उसका वीडियो बना रहा है. इसके बाद वह चिल्लाई और अपने दोस्तों के अलावा कॉलेज मैनेजमेंट को इस घटना की जानकारी दी. इसके बाद IIT के छात्रों का एक समूह और कुछ प्रतिनिधिओं के साथ वह तुरंत शिकायत दर्ज कराने के लिए पवई पुलिस स्टेशन पहुंची थी.

IIT बॉम्बे के स्टूडेंट विंग के डीन प्रफेसर तपनेंदु कुंडू ने बताया, ‘घटना को गंभीरता से लेते हुए IIT प्रंबंधन समिति ने कई कदम उठाए हैं. हॉस्टल से बाहरी इलाके तक से रास्ते को सील कर दिया गया है. विभिन्न जगहों पर CCTV लगाया गया है. नए सिरे से लाइटिंग की गई है. महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रात्रि पाली की कैंटीन में महिलाओं को नियुक्त करने का फैसला किया गया है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here