बिहार में अधिकारियों का टीके की कमी से इनकार, तो फिर दिक्कत कहां है?

0
19
Bihar

कोरोना संकट के बीच लोग लगातार वैक्सीनेशन करा रहे हैं। बिहार में भी टीका लगवाने के लिए लगातार स्लॉट की बुकिंग की जा रही है।लेकिन लोगों को टीके की बुकिंग में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि अधिकांश साइट केवल उन लोगों को ये सुविधा प्रदान कर रही हैं जो CoWIN पोर्टल पर स्लॉट बुक करते हैं।

Bihar

इस बीच वैक्सीनेशन अभियान के तीसरे फेज में ज़्यादातर लोग टीकाकरण केंद्रों का दौरा कर रहे हैं। ऐसे में भीड़ ज्यादा हो रही है, जिसे रोकने के लिए कुछ तय साइट्स ने स्पॉट रजिस्ट्रेशन रोक दिया है। भीड़भाड़ से बचने के लिए नो वॉक-इन रूल लागू किया गया है।
प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार 9 मई तक राज्य में 8,18,661 शॉट्स में से, 18 से 44 साल तक के 5,22,769 लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक मिली, जबकि 45 से ऊपर के 1,02,223 लोगों को पहला शॉट मिला है। दूसरी तरफ़ बिहार में 45 साल से ज़्यादा उम्र के लोगों के लिए टीकों की कमी से टीकाकरण अभियान अस्थायी रूप से बाधित हो सकता है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग का दावाह है कि उसके पास लगभग छह लाख खुराक है। लेकिन जल्द से जल्द और वैक्सीन स्टॉक की जरूरत होगी।

वहीं बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने भी दावा किया कि राज्य में टीकों की कोई कमी नहीं है और सभी उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here