पुलवामा एनकाउंटर में शहीद हुए मेजर विभूति ढौंडियाल की पत्नी निकिता, 29 मई को ज्वॉइन करेंगी इंडियन आर्मी

0
13
Pulwama encounter

पुलवामा में हुए आतंकियों के हमले को कोई नहीं भूल सकता। आतंकियों के इस हमले के कारण भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। ना जाने कितने घरों ने अपने कलेजे के टुकड़े को खो दिया था। आज भी उस हमले के बारे में सोचकर रुंह कांप जाती है। गुस्सा आता है जब तिरंगे से लिपटा शहीदों का पार्थव शरीर आंखों के सामने घुमता है।

Pulwama encounter

कश्मीर के पुलवामा में 8 फरवरी 2019 में आतंकियों का सामना करते हुए देहरादून के रहने वाले विभूति ढौंडियाल शहीद हो गए थे। उस वक्त उनकी उम्र 34 साल थी और उनकी शादी हुए सिर्फ नौ महीने हुए थे। मेजर विभूति का विवाह 18 अप्रैल 2018 को हुआ था। 19 अप्रैल को पहली बार पत्नी नितिका को लेकर वह डंगवाल मार्ग स्थित अपने घर पहुंचे थे। पति के गुजरने के बाद निकिता ने इलाहबाद में वुमन एंट्री स्कीम की परीक्षा पास करने के बाद चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से ट्रेनिंग ली। फिलहाल निकिता की ट्रेनिंग पूरी हो गई है। वे लेफ्टिनेंट के तौर पर सेना में शामिल होने के लिए तैयार हैं।

Pulwama encounter

लेफ्टिनेंट कर्नल विकास नौटियाल के अनुसार, निकिता 29 मई को पासआउट हो जाएंगी। इससे पहले पति के शहीद होने पर निकिता उस वक्त भी चर्चा में रहीं थीं जब उन्होंने ‘आई लव यू विभू’ जैसे मार्मिक शब्दों से विभूति को अंतिम विदाई दी थी। निकिता कश्मीर के विस्थापित परिवार से ताल्लुक रखती हैं। विभूति के पिता स्व. ओमप्रकाश ढौंडियाल के चार बच्चे हैं। इनमें तीन बेटियां और सबसे छोटा बेटा विभूति था। मेजर का परिवार मूल रूप से पौड़ी जिले के बैजरो ढौंड गांव का रहने वाला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here