NIA का ‘ऑपरेशन मिडनाइट’! शाह की बैठक के बाद PFI पर बड़ा एक्शन, जानिए पूरा मामला

0
92

केंद्रीय जांच एजेंसियों पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में बड़ी कार्रवाई की है. नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) और एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट (ED) की संयुक्त टीमों ने देश के करीब 11 राज्यों में 106 ठिकानों पर छापेमारी की है. इस दौरान जांच एजेंसियों ने 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें PFI के बड़े अधिकारी और कार्यकर्ता शामिल है. खबर है कि इस पूरे मामले पर एक्शन की स्क्रिप्ट 29 अगस्त को हुई केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की बैठक के बाद ही लिखीं गई थी. दरअसल, उस दौरान अमित शाह ने PFI की गतिविधियों को देखते हुए एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी. इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, RAW, IB, NIA के प्रमुख समेत कई बड़े अधिकारी शामिल हुए थे.

खबरों की मानें, तो 29 अगस्त को हुई अमित शाह की बैठक में शामिल हुए शीर्ष अधिकारियों का कहना है कि अमित शाह PFI और उससे जुड़ी गतिविधियों की जानकारी चाहते थे. उस दौरान जब मौजूद लोगों ने उन्हें जानकारियां मुहैया कराई, तो उन्होंने अलग-अलग एजेंसियों को जिम्मेदारियां बांटी. PFI के खिलाफ बड़े एक्शन की योजना बनाई गई थी, लेकिन यह भी तय किया गया कि एजेंसियां पहले पूरा होमवर्क करेंगी. अमित शाह ने यह साफ कर दिया था कि PGI के पूरे कैडर, फंडिंग और आतंकी नेटवर्क को खत्म करना है और इसमें अलग-अलग एजेंसियों के शामिल करने की योजना तैयार की गई.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, बैठक के दौरान केंद्रीय खुफिया एजेंसियों को जानकारी जुटाने और डोजियर तैयार करने के लिए कहा गया. जांच एजेंसियों को हत्याओं और जबरन वसूली मामले में PFI कैडर के शामिल होने से जुड़ी सभी जानकारियां लिखने के निर्देश जारी किए गए. NIA को मामलों की जांच और देशभर में कैडर को पकड़ने के लिए ट्रैप तैयार करने के लिए कहा गया. हाल ही में केंद्रीय गृहमंत्रालय की तरफ से भी PFI से जुड़े कई मामले NIA को सौंपे गए थे, जिनकी जांच पहले राज्य की पुलिस कर रही थी.

वहीं, 29 अगस्त की बैठक के बाद ED को PFI की फंडिंग, विदेश से मदद और अवैध लेन-देन से जुड़ी शुरूआती रिपोर्ट तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई, साथ ही राज्य की पुलिस को भी योजना में तैयार करने का फैसला लिया गया. इस दौरान उन राज्यों को विशेष तौर पर शामिल किया गया, जो इस संगठन को लेकरर चिंता जाहिर कर रहे थे और उनकी अवैध गतिविधियों का रोज सामना कर रहे थे.

22 सितंबर (गुरुवार) को NIA और ED की संयुक्त टीमों ने 11 राज्यों में करीब 106 ठिकानों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की है. यह कार्रवाई ‘ऑपरेशन मिडनाइट’ नाम की गई है. क्योंकि जांच एजेंसियों ने इस कार्रवाई ‘ऑपरेशन मिडनाइट’ नाम दिया था. फिलहाल, रेड जारी है. इधर, दिल्ली में शाह भी अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here