महाराष्ट्र में जारी हुई नई गाइडलाइन: होम आइसोलेशन होगा खत्म, कोरोना मरीजों के लिए कोविड सेंटर

0
19
New guidelines of corona

कोरोना का कहर हर जगह है। ऐसा कोई राज्य नहीं जहां कोरोना ने तबाही नहीं मचाई। कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने कुछ नियम बनाए थे, जिसके तहत कोरोना के मरीज अपने आप को होम आइसोलेट करें। सरकार का ये नियम अब ओर नहीं चलेगा, क्योंकि फिर से एक नई गाइडलाइन जारी हुई है।

नई गाइडलाइन के अनुसार अब कोरोना मरीजों को होम आइसोलेशन नहीं बल्कि कोविड सेंटर जाना होगा। यानि कि अब होम आइसोलेट की सुविधा को खत्म किया जा रहा है।

दरअसल, सरकार के इस फैसले के पीछे का कारण है, होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की लापरवाही। सरकार का रहना है कि होम आइसोलेशन मरीजों के कारण कई जगहों पर कोरोना का प्रसार हो रहा है।

कौन-कौन सी जगह पर बंद हुआ होम आइसोलेशन?

नई गाइडलाइन के तहत 10 फीसदी से ज्यादा पॉजिटिविटि रेट वालों जिलों में अब कोरोना मरीज खुद को होम आइसोलेट नहीं कर पाएंगे। इन जिलों के नाम इस प्रकार हैं- कोल्हापूर, सांगली, सातारा, यवतमाळ, अमरावती, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, सोलापूर, अकोला, बुलढाणा, वाशीम, बीड, गडचिरोली, अहमदनगर, उस्मानाबाद जिले में होम आइसोलेशन बंद कर दिया गया है। हालांकि, बीएमसी ने अभी होम आइसोलेशन की इजाजत दी है।

महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि भले ही केस कम हो रहे हैं, लेकिन सावधानियां अभी बरतनी है, कई बार शिकायत मिल रही थी कि होम आइसोलेशन का पालन मरीज ठीक से नहीं कर रहे हैं, इस वजह से उनके घर वालों के साथ आस-पास के लोग भी संक्रमित हो रहे हैं, ऐसे में बाकी लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए मरीजों को अब कोविड सेंटर में रहना होगा।

होम आइसोलेशन को खत्म करने का फैसला उस वक्त आया है, जब महाराष्ट्र में कोरोना का ग्राफ गिर रहा है। अब अस्पतालों और कोविड सेंटर पर दबाव कम हुआ है। इसी वजह से होम आइसोलेशन को खत्म करके अब नए मरीजों को कोविड सेंटर में एडमिट करने का फैसला लिया गया है, जिससे उन पर ध्यान रखा जाएगा और बाकी लोगों में संक्रमण का खतरा भी कम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here