मेरे पिता ने गोधरा कांड के बाद मोदी का दिया था साथ!

0
34

हनुमान चालिसा से उपजे विवाद के बाद शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर हिंदुत्व को लेकर सवाल खड़े हो रहे है और विरोधी लगातार उद्धव ठाकरे पर हिंदू विरोधी का आरोप लगा रही है. इसी बीच एक जनसभा को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने एक किस्सा सुनाया और कहा कि गुजरात में गोधरा कांड के बाद जब नरेंद्र मोदी का विरोध हो रहा था तब मेरे पिता बाला साहेब ठाकरे ने समर्थन किया था, उन्होंने कहा, ‘दंगो के बाद ‘मोदी हटाओ’ अभियान चलाया जा रहा था. तभी लाल कृष्ण आडवानी एक रैली करने मुंबई आए थे, उन्होंने बाला साबेह से पूछा कि क्या मोदी को हटा देना चाहिए. इस पर उन्होंने जवाब दिया कि उन्हें छूने की भी कोशिश ना करना, मोदी गया तो चला जाएगा.’

उद्धव ठाकरे ने आगे कहा, आज भी मेरा मोदी के साथ अच्छे संबंध है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि गठबंधन हो जाए. उद्धव ठाकरे का यह बयान शिवसेना पर लग रहे हिंदुत्व विरोधी आरोपों के बीच आया है.

दरअसल, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे द्वारा मस्जिदों में लाउडस्पीकर का मुद्दा उठाने और उद्धव के घर ‘मातोश्री’ के सामने हनुमान चालिसा का पाठ करने के बाद मनसे समेत कई विरोधियों ने उनपर हिंदू विरोधी होने का आरोप लगाए है.

वहीं, उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा, केंद्र सरकार एजेंसियों का गलत इस्तेमाल कर रही है, उन्होंने कहा कि CBI और ED जैसी एजेंसियों को जल्द ही महाराष्ट्र में भी उसी तरह विरोध का सामना करना पड़ सकता है जिस तरह से पश्चिम बंगाल में करना पड़ा, उन्होंने कहा, हर चीज की सीमा होती है. अब केंद्रीय एजेंसियां पश्चिम बंगाल जाने से डरती हैं. कहीं ऐसा ना हो कि दूसरे राज्यों में भी यही हाल हो जाए. अधिकारी पीटे जाते हैं. केंद्र सरकार को इनका इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए नहीं करना चाहिए. प्रधानमंत्री पूरे देश के हैं, उन्हें देश के दुश्मनों से लड़ना चाहिए.

लाउडस्पीकर के मुद्दे पर मनसे पर तंज कसते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा, कुछ लोग हैं जो कि झंडा बदलते रहते हैं. पहले वे गैर-मराठी लोगों पर हमला बोलते थे. अब वे गैर-हिंदुओं पर अटैक कर रहे हैं. मार्केटिंग का जमाना है. ये भी नहीं चला तो कुछ और. सुप्रीम कोर्ट ने किसी एक धर्म के बारे में आदेश नहीं दिया था. लाउडस्पीकर से संबंधित दिशानिर्देश सभी धर्मों के लिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here