फोर्ब्स की टॉप 10 अमीरों की लिस्ट में मुकेश अंबानी पहले नंबर पर और दूसरे नंबर रहे गौतम अदानी

0
11
forbes mukesh ambani news

इस वक्त पूरी कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है इस महामारी की मार सबसे ज्यादा नौकरी पेशा लोगों पर पड़ी है जिनका सब कुछ खत्म हो चुका है. लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस ने सरकार तक की नींद उड़ा दी है. इस विकट परिस्थितियों में भी विश्व के कारोबारियों ने हिम्मत नहीं हारी. फोर्ब्स ने साल 2021 के लिए 10 अरबपतियों की सूची जारी की है. जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने पहला स्थान हासिल किया है. इसके साथ ही अडानी ग्रुप के अध्यक्ष गौतम अदानी दूसरे स्थान पर है.

दरअसल, फोर्ब्स मैगजीन ने साल 2021 की सबसे अमीर अरबपतियों की सूची जारी की है. इस लिस्ट के मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा अरबपतियों की संख्या के मामले हिंदुस्तान तीसरे स्थान पर पहुंच गया है. आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का ताज चीन के जैक मा से छीन लिया और दुनिया में 10वें स्थान पर और हिंदुस्तान में पहला स्थान पर सबसे अमीर व्यक्ति का खिताब हालिस किया है. जबकि जेफ बेजोस लगातार चौथी बार दुनिया के सबसे अमीर शख्स बने हुए है.

84.5 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ मुकेश अंबानी को फोर्ब्स की भारत के सबसे अमीर अरबपतियों की सूची में सबसे ऊपर जबकि अदानी को 50.5 बिलियन डॉलर के साथ दूसरे स्थान पर हैं.

बता दें, फोर्ब्स मैगजीन की नई सूची में यह जानकारियां सामने आई हैं. अब दुनिया में भारत से ज्यादा अरबपति (डॉलर के मद में) सिर्फ अमेरिका और चीन में हैं. भारत में अरबपतियों की संख्या बढ़कर 140 तक पहुंच गई है. बता दें, एक साल पहले अली बाबा के फाउंडर जैक मा एश‍िया के सबसे धनी व्यक्ति थे.

भारत के लिए गर्व का मौका

अरबपतियों की संपत्ति में अभूतपूर्व उछाल शेयर बाजार में तेजी से बढ़ने के बावजूद कायम है. बीते एक साल में बेंचमार्क सेंसेक्स 75 प्रतिशत बढ़ा है. फोर्ब्स के अनुसार अरबपतियों की संख्या पिछले साल 102 से बढ़कर 140 हो गई और उनकी सामूहिक संपत्ति पिछले साल के दौरान दोगुनी होकर 596 अरब डॉलर हो गई. शीर्ष तीन सबसे अमीर भारतीयों ने सामूहिक रूप से महामारी में 100 बिलियन डॉलर जुटा है.

मुकेश अंबानी ने अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया

अंबानी ने जियो के लिए 35 बिलियन डॉलर का निवेश किया और 2021 तक कंपनी के शुद्ध ऋण स्तर को शून्य पर लाने का लक्ष्य भी हासिल किया. एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति ने पिछले एक साल में अधिग्रहण और धन उगाही के साथ अपने साम्राज्य को प्रौद्योगिकी और खुदरा क्षेत्रों में विविधता भी प्रदान की.अंबानी ने टेलीकॉम यूनिट जियो की एक तिहाई वैश्विक मार्की निवेशकों जैसे कि फेसबुक, गूगल और अन्य को बेची और रिलायंस रिटेल के 10 प्रतिशत निजी इक्विटी फर्मों जैसे केकेआर और जनरल अटलांटिक में उतार दिए. फोर्ब्स ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 7.3 बिलियन डॉलर के शेयर जारी किए.

दूसरे नंबर पर गौतम अडानी

भारत के दूसरे सबसे अमीर अरबपति अडानी की संपत्ति में 42 बिलियन डॉलर की वृद्धि हुई, क्योंकि समूह की कंपनियों अदानी ग्रीन और अदानी एंटरप्राइजेज के शेयरों में आसमान छू गया. इन्फ्रास्ट्रक्चर टाइकून ने समूह के व्यवसायों को भी विविधता प्रदान की और भारत के हवाई अड्डे के प्रबंधन और संचालन व्यवसाय में विस्तार किया.अडानी ग्रुप ने इससे पहले सितंबर 2020 में देश के दूसरे सबसे व्यस्त मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट में 74प्रतिशत की हिस्सेदारी हासिल की थी. उसने अपनी सूचीबद्ध नवीकरणीय कंपनी अडानी ग्रीन एनर्जी में 20प्रतिशत हिस्सा 2.5 बिलियन डॉलर में फ्रेंच एनर्जी दिग्गज को बेच दिया.

ये भी पढ़ें –बिकाऊ है नोएडा ट्रैफिक पुलिस का ई-चालान पोर्टल, खरीदोगे क्या?

Download – Local Vocal Hindi News App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here