सुबह की खास खबरें @17.06.2021

0
18
Morning news

चिराग ने चाचा को बताया धोखेबाज, बोले- मैं शेर का बेटा हूं, लड़ाई के लिए तैयार हूं

लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) में फूट के बाद चिराग पासवान बुधवार को पहली बार मीडिया के सामने आए, उन्होंने चाचा पशुपति कुमार पारस पर पलटवार करते हुए कहा कि पार्टी ने समझौते की बजाए संघर्ष का रास्ताा चुना था. पिता के निधन के बाद मैंने परिवार और पार्टी दोनों को लेकर चलने का काम किया. इसमें संघर्ष था. जिन लोगों को संघर्ष का रास्ता पसंद नहीं था, उन्होंकने ही धोखा दिया. चाचा बोलते, तो पहले ही संसदीय दल का नेता बना देता. चिराग ने कहा- एलजेपी को पहले भी तोड़ने की कोशिश की गई थी. मैं रामविलास पासवान का बेटा हूं. शेर का बेटा हूं. पारस गुट ने पटना में गुरुवार को कार्यकारिणी की जो बैठक बुलाई है, वो असंवैधानिक है. उनके लिए गए फैसले भी गलत हैं. मैं लंबी लड़ाई के लिए तैयार हूं.

ट्विटर मामले पर सरकार का जवाब- अब वे कानूनी संरक्षण के हकदार नहीं

नए आईटी नियमों का पालन नहीं करने की वजह से ट्विटर ने बुधवार को देश में इंटरमीडियरी प्लेटफॉर्म का दर्जा खो दिया यानी अब ट्विटर अपने प्लेटफॉर्म पर की गए पोस्ट के लिए जिम्मेदार होगा. इस फैसले के बाद केंद्र सरकार ने अपना पक्ष रखा. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस बात को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं कि क्या ट्विटर कानूनी संरक्षण का हकदार है? हालांकि, मामले में सीधी बात यह है कि ट्विटर 26 मई से लागू हुई गाइडलाइन का पालन करने में नाकाम रहा है. इसके बाद भी उन्हें कई मौके दिए गए थे. फिर भी उन्होंने जानबूझकर गाइडलाइन ना मानने का रास्ता चुना. दरअसल, ट्विटर का कानूनी संरक्षण खत्म होने को लेकर केंद्र सरकार ने कोई भी आदेश जारी नहीं किया है. आईटी मंत्रालय की ओर जारी की गई गाइडलाइन का पालन नहीं करने की वजह से कानूनी संरक्षण अपने आप खत्म हुआ है. कानूनी संरक्षण 25 मई से खत्म माना गया है.

तृणमूल में आ सकते हैं 25 विधायक और 2 सांसद: शुभ्रांग्शु

बंगाल के दिग्गज नेता मुकुल रॉय की वापसी के बाद से ही कहा जा रहा है कि बड़ी संख्या में भाजपा से लोग तृणमूल में आएंगे. मुकुल रॉय के पॉलिटिकल मूव्स भी इसी ओर इशारा कर रहे हैं. मुकुल लगातार भाजपा नेताओं और ऑर्गेनाइजर्स के संपर्क में हैं, साथ ही उन लोगों से भी संपर्क कर रहे हैं, जिन्हें वे 4 साल भाजपा में रहते हुए तृणमूल से लाए थे. सूत्रों ने बताया कि रॉय खुद मानते हैं कि वे भाजपा नेताओं से फोन पर बात कर रहे हैं. 2017 में तृणमूल से भाजपा में जाने वाले मुकुल रॉय अपने बेटे शुभ्रांग्शु के साथ तृणमूल में वापस लौट आए थे. ममता ने उनकी वापसी पर कहा था कि मुकुल को पार्टी में बड़ा रोल दिया जाएगा. बेटे शुभ्रांग्शु ने मुकुल के प्लान को और विस्तार से बताया, उन्होंने कहा कि भाजपा के कम से कम 20 से 25 विधायक और 2 सांसद तृणमूल में आ सकते हैं.

12वीं के रिजल्ट पर आज निकल सकता है रास्ता

CBSE 12वीं के रिजल्ट के लिए 10वीं, 11वीं और 12वीं के नंबर्स जोड़े जाने पर विचार चल रहा है. CBSE का 13 सदस्यीय पैनल 10वीं, 11वीं और 12वीं के नंबर 30:30:40 के अनुपात में जोड़कर रिजल्ट तैयार करने के तरीके पर राजी हो सकता है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रिजल्ट के लिए 10वीं और 11वीं के नंबर को 30-30 प्रतिशत और 12वीं के बोर्ड एग्जाम से पहले लिए गए टेस्ट को 40 प्रतिशत वेटेज दिया जा सकता है. यह कमेटी 17 जून यानी आज रिजल्ट के संबंध में अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपेगी. इसके बाद ये फॉर्मूला अनाउंस किया जा सकता है.

बछड़े के सीरम पर ICMR का जवाब- आंख बंद करके वैक्सीन लें

कोवैक्सिन को लेकर कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि उसमें बछड़े का सीरम मिलाया गया है. आरोप कांग्रेस नेता गौरव पांधी ने एक RTI रिपोर्ट के हवाले से लगाया. हालांकि भाजपा और सरकार ने इससे इनकार किया है. कोवैक्सिन निर्माता भारत बायोटेक ने भी कहा कि फाइनल डोज में इस सीरम का इस्तेमाल नहीं किया है. भास्कर से बतचीत में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMT) के डॉ. मनोज मुरेहकर ने विवाद को प्रोपेगैंडा करार दिया है. उन्होंने बताया कि बछड़े के ब्लड से सीरम लिया गया है, उसे मारा नहीं गया है इसलिए आंख बंद करके वैक्सीन लें. वैक्सीन लेने से ही मौत कम होगी और लोग हॉस्पिटल से बचे रहेंगे. इसी तरह कोरोना पर काबू पाया जा सकेगा.

सचिन पायलट 6 दिन दिल्ली में रहे, प्रियंका से मिले बिना ही जयपुर लौटे

राजस्थान कांग्रेस में चल रहे सियासी बवाल के बीच पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट 6 दिन दिल्ली में रहने के बाद बुधवार को बिना हाईकमान से मिले ही जयपुर लौट आए हैं. पहले उनके प्रियंका गांधी से मिलने की चर्चा थी, लेकिन उनसे भी मुलाकात नहीं हो सकी. पायलट शुक्रवार शाम को दिल्ली पहुंचे थे, तब से ही उनके समर्थक विधायकों और CM अशोक गहलोत खेमे के बीच तीखी बयानबाजी का दौर जारी है. सचिन पायलट को 6 दिन दिल्ली में रहने के बावजूद हाईकमान से बिना मिले लौटने को लेकर कई तरह की सियासी चर्चाएं हैं. कांग्रेस के जानकारों के मुताबिक फिलहाल नंबर गेम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास होने की वजह से सचिन खेमे की मांगों को तरजीह नहीं दी जा रही है.

खाने के तेल सस्ते हुए: कीमतों में आई 10-20 प्रतिशत की गिरावट

पिछले कुछ दिनों में खाने की तेल की कीमतों में 10-20 प्रतिशत तक की गिरावट आई है. कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है. इसके मुताबिक एक महीने में इन कीमतों में कमी आई है. मंत्रालय के मुताबिक, तेलों की अलग-अलग कैटेगरी में 20 प्रतिशत तक की गिरावट आई है. आंकड़ों के मुताबिक, मूंगफली तेल की कीमत एक लीटर की 190 से घट कर 174 रुपए पर आई है. वनस्पति तेल की कीमत एक लीटर की 154 से कम होकर 141 रुपए पर आई है. इन दोनों तेलों की कीमतों में 8-8प्रतिशत की कमी आई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here