महाराष्ट्रः किसने आतंकी याकूब मेमन की कब्र को सजाया? बढ़ा विवाद, तो पुलिस ने की कार्रवाई, अब सियासत गरमाई

0
74

देश की आर्थिक नगर मुंबई को 1993 में दहलाने वाले आतंकी याकूब मेमन की कब्र की एक तस्वीर चौंकाने वाली सामने आई है, जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है. दरअसल, आतंकी याकूब मेमन की कब्र को फूलों से सजाया गया है और उसके कब्र के आस-पास मार्बल लगाया गया. इसके साथ ही LED लाइटिंग से सजाया गया है. हालांकि, तस्वीर वायरल होने के बाद पुलिस ने कब्र से लाइट को हटना दिया है, लेकिन अब महाराष्ट्र की सियासत गरमा गई है. भाजपा का आरोप है कि यह सब उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री रहते हुए हुआ है.

दरअसल, भाजपा नेता राम कदम ने सोशल मीडिया पर याकूब मेनन की कब्र की तस्वीरें शेयर की हैं. इसके साथ ही उन्होंने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंकी याकूब मेमन की कबर को मझार में तबदील करने का कुकर्म ऊधव ठाकरे के आंखो के सामने हुआ. क्या यही है ठाकरे का मुंबई से प्यार? हजारों लोगों की बंबकांड में जान लेने वाला आतंकी याकूब. इतना #पेंग्विनसेना को क्यों भाता है?

राम कदम ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर कहा था- मंबई का गुनहगार याकूब की कब्र को क्यों सजाया गया है? जो शख्स सैकड़ों लोगों की मौत का जिम्मेदार था, उसकी कब्र को इतना सम्मान क्यों दिया जा रहा है? याकूब 1993 बम ब्लास्ट के दोषी रहा है और उसे सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी. क्या उधव ठाकरे की यही भक्ति है. यही है इनका मुंबई से प्यार , यही इनकी देश भक्ती? उन्होंने राज्य की पूर्व महाविकास अघाड़ी सरकार के सहयोगियों से कहा कि इस गलती के लिए उद्धव ठाकरे, शरद पवार और राहुल गांधी को मुम्बई की जनता से माफी मांगनी चाहिए.

बता दें, मुंबई में 12 मार्च 1993 को 12 जगहों पर सीरियल बम ब्लास्ट हुआ था. जिसमें करीब 257 लोगों की मौतें हुई थीं. वहीं, 700 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) की 28 मंजिला इमारत की बेसमैंट में भी ब्लास्ट हुआ था. इसमें 50 लोग मारे गए थे. इन सभी धमाकों की साजिश में याकूब मेमन शामिल था और यह बम ब्लास्ट अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के इशारे पर किए गए थे.

CBI ने 1994 में याकूब को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया था. जिसके बाद 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने उसे दोषी ठहराया और 2015 में नागपुर जेल में याकूब को फांसी दी गई.

30 जुलाई 2015 को दक्षिण मुंबई के बड़ा कब्रिस्तान में याकूब मेनन को दफनाया गया था. अब उसी याकूब की कब्र को मजार में तब्दील करने की कोशिश होने लगी है. मार्बल स्टोन से बनी इस कब्र पर LED लाइट लगाई गईं. जो हमेशा जलती रहती हैं और 24 घंटे इसकी पहरेदारी होती है. भाजपा ने इसके पीछे उद्धव ठाकरे सरकार का हाथ बताया है. तो वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंढे ने भाजपा पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा कि फांसी देने के बाद आतंकियों के शव को उसके परिवार को नहीं दिया जाता है. 2015 में भाजपा सरकार ने याकूब के शव को उसके परिवार को सौंप दिया. भाजपा इस पर अब पॉलिटिक्स कर रही है.

बता दें, आमतौर पर किसी कब्र की खुदाई 18 महीने बाद कर दी जाती है, लेकिन याकूब मेमन की कब्र की खुदाई 5 साल बाद भी नहीं हुई. याकूब की कब्र को लेकर पहले भी सवाल उठते रहे हैं और अब उसकी कब्र पर सजावट को लेकर विवाद शुरू हो गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here