यूरोपीन देशों में बढ़ा हिंदुस्तान का कद, 9 देशों ने दी कोविशील्ड वैक्सीन को मान्यता, ग्रीन पासपोर्ट में शामिल

0
68

हिंदुस्तान में कोविशील्ड वैक्सीन लगावा चुके और यूरोपीन देशों की यात्रा का सपना देखने वाले हिंदुस्तानियों के लिए बेहद खास खबर सामने आई है. दरअसल, भारत सरकार के दखल के बाद यूरोपीय संघ के 8 देशों और स्विट्जरलैंड ने गुरुवार (1 जुलाई) को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड वैक्सीन को मान्यता दे दी है. 8 यूरोपीय संघ के देशों जर्मनी, स्लोवेनिया, ग्रीस, ऑस्ट्रिया, आयरलैंड, स्पेन और आइसलैंड के अलावा एस्टोनिया ने भारत की सभी वैक्सीन को मान्यता दी है. इसके साथ ही स्विट्जरलैंड ने भी कोविशील्ड वैक्सीन को ग्रीन पासपोर्ट के दायरे में शामिल किया है यानी कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोग अब इन देशों की यात्रा कर सकते है.

बता दें, इससे पहले बुधवार (30 जून) भारत सरकार ने यूरोपीय संघ के सदस्य देशों से कोविशील्ड और कोवैक्सिन को ग्रीन पास योजना में शामिल करने को कहा था. सरकार ने साफ शब्दों में कह दिया था कि इन दोनों वैक्सीन को स्वीकार करें या फिर यूरोपीय संघ के नागरिकों के भारत पहुंचने पर उनके लिए क्वारंटीन अनिवार्य किया जाएगा.

ज्ञात हो यूरोपीय संघ ने अपनी ‘ग्रीन पास’ योजना के तहत अब यात्रा पर ढील दी है. वहीं भारत सरकार ने समूह के 27 सदस्य राष्ट्रों से अनुरोध किया है कि कोविशील्ड और कोवैक्सिन का टीका लगवा चुके भारतीयों को यूरोप की यात्रा करने की अनुमति देने पर वो अलग-अलग विचार करें.

यूरोपीय संघ देशों के साथ भारत अपनाएगा अदला-बदली की नीति

गुप्त सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भारत सरकार यूरोपीय संघ के सदस्य देशों के साथ अदला-बदली की नीति अपनाएगा और ‘ग्रीन पास’ रखने वाले यूरोपीय नागरिकों को अपने देश में अनिवार्य क्‍वारंटीन से छूट देगा. इसके लिए शर्त रखी गई है कि भारत की देसी वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन को मान्यता देने के अनुरोध को स्वीकार किया जाए. बता दें, यूरोपीय संघ की डिजिटल कोविड सर्टिफिकेशन योजना मतलब ‘ग्रीन पास’ योजना गुरुवार से लागू हो जाएगी. इसके तहत कोविड-19 महामारी के दौरान यात्रा में छूट की अनुमति होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here