Sunday, February 28, 2021
Home sports Ind v/s Eng: दूसरे टेस्ट का तीसरा दिन, दूसरी पारी में भारत...

Ind v/s Eng: दूसरे टेस्ट का तीसरा दिन, दूसरी पारी में भारत का 6वां विकेट गिरा, कोहली क्रीज पर मौजूद

भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच चेन्नई में खेला जा रहा है. तीसरे दिन टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 6 विकेट गंवाकर 133+ रन बना लिए हैं. फिलहाल, विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन क्रीज पर हैं.

टीम इंडिया ने तीसरे दिन दूसरी पारी में एक विकेट पर 54 रन से आगे खेलना शुरू किया था. इसके बाद टीम ने सिर्फ 11 रन बनाने में 3 और विकेट गंवा दिए. रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा और ऋषभ पंत जल्दी पवेलियन लौट गए. शुभमन गिल (14) दूसरे दिन ही लीच का शिकार हो गए थे.

रोहित और पंत स्टंप आउट

पुजारा (7) रन पर रनआउट हो गए. इसके बाद रोहित भी ज्यादा देर नहीं टिक सके और 26 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. जैक लीच की बॉल पर विकेटकीपर बेन फोक्स ने उन्हें स्टंप किया. रहाणे से ऊपर खेलने उतरे ऋषभ पंत 8 रन बनाकर लीच की बॉल पर स्टंप आउट हुए. चौथे विकेट के तौर पर अजिंक्य रहाणे (10) आउट हुए. मोइन अली ने उन्हें ओली पोप के हाथों कैच आउट कराया.


जैक लीच ने 3 और मोइन अली ने 2 विकेट लिए

भारत की दूसरी पारी में इंग्लिश स्पिनर जैक लीच ने 3 और मोइन अली ने 2 विकेट लिए. लीच ने रोहित, शुभमन और ऋषभ पंत को पवेलियन भेजा. जबकि मोइन ने अजिंक्य रहाणे और अक्षर पटेल को शिकार बनाया.


इंग्लैंड पहली पारी में 134 रन ही बना सकी
दूसरे दिन टीम इंडिया ने पहली पारी में 329 रन बनाए. रोहित शर्मा ने 161 रन की पारी खेली. इसके जवाब में इंग्लैंड टीम रोहित के स्कोर की भी बराबरी नहीं कर सकी और 134 रन पर सिमट गई. इस लिहाज से भारत को पहली पारी में 195 रन की लीड मिली.

चोटिल पुजारा ने फील्डिंग नहीं की, लेकिन बल्लेबाजी के लिए उतरे

चेतेश्वर पुजारा इंग्लैंड की पहली पारी के दौरान फील्डिंग करने नहीं उतरे थे. पहली पारी में बल्लेबाजी के दौरान उनको हाथ में चोट लगी थी. पहली पारी में उन्होंने 58 बॉल पर 21 रन बनाए थे. हालांकि, दूसरी पारी में वे बल्लेबाजी करने उतरे और सिर्फ 7 रन ही बनाकर आउट हुए.


रिस्क नहीं लेना चाहिए टीम इंडिया को

भारतीय टीम 400+ का टारगेट क्यों देना चाहेगी, इसके पीछे पहला कारण ये है कि टीम इंडिया कोई रिस्क नहीं लेना चाहेगी, क्योंकि इंग्लैंड के पास कप्तान जो रूट और बेन स्टोक्स जैसे प्लेयर हैं. यह कभी भी गेम को बदलने की ताकत रखते हैं. दूसरा कारण यह भी है कि मैच के 3 दिन पूरे बाकी हैं. ऐसे में भारतीय टीम जल्दबाजी नहीं करना चाहेगी और ज्यादा बढ़त का फायदा उठाना चाहेगी. ऐसे में आखिरी दो दिन के खेल में इंग्लैंड के सामने हार या जीत का ऑप्शन ही रहेगा. ड्रॉ होने का कोई चांस नहीं होगा.

रूट सीरीज में अब तक टॉप स्कोरर हैं. उन्होंने 3 पारियों में 264 रन बनाए हैं. सीरीज के पहले टेस्ट में उन्होंने 218 रन की पारी खेली थी. इसी पारी में बेन स्टोक्स ने भी 82 रन की पारी खेली थी. दोनों ने पहली पारी में चौथे विकेट के लिए 124 रन की पार्टनरशिप भी की थी.

इंग्लैंड टीम भारत को कम स्कोर पर रोकना चाहेगी

इंग्लैंड की टीम भारत को कम से कम स्कोर पर रोकना चाहेगी. हालांकि, मुश्किल यह है कि उसके पास मैच में सिर्फ दो ही स्पिनर मोइल अली और जैक लीच हैं. जबकि भारतीय टीम ने 3 स्पेशलिस्ट स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, कुलदीप यादव और अक्षर पटेल को खिलाया है. अश्विन ने पहली पारी में 5 और अक्षर ने 2 विकेट लिए हैं.

वहीं, मोइन ने पहली पारी में 4 और जैक लीच ने 2 विकेट लिए थे. कप्तान जो रूट पार्टटाइम स्पिनर्स हैं, जिन्होंने पहली पारी में एक विकेट भी लिया था. दूसरी मुश्किल बात यह भी है कि मैनेजमेंट ने अनुभवी पेसर जेम्स एंडरसन को भी मैच नहीं खिलाया. उनकी जगह आए स्टुअर्ट ब्रॉड को पहली पारी में कोई विकेट नहीं मिला.

भारत में सबसे बड़ा 387 रन का टारगेट चेज हुआ

भारतीय जमीन पर अब तक सबसे बड़ा 387 रन का टारगेट ही चेज किया जा सका है. दिसंबर 2008 में भारत ने इंग्लैंड को चेन्नई के ही मैदान पर टेस्ट में 4 विकेट से हराया था. वहीं, विदेशी टीम की बात करें तो सिर्फ वेस्टइंडीज ने ही भारत में सबसे बड़ा 276 रन का टारगेट चेज किया था. उसने 1987 के दिल्ली टेस्ट में भारत को 5 विकेट से हराया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments