Happy Birthday Arshad Warsi: इस करैक्टर ने बदल दी “अरशद” की किस्मत

0
44

बुलंदी के शिखर को वहीं इंसान छूता जिसके अंदर मेहनत और लगन होती. कहते हैं अगर मेहनत पूरी लगन ईमानदारी से की जाएं और ऐसे में किस्मत भी आपसे दोस्ती कर लें तो आपके बड़े सपने सकार हो जाते है. आज हम ऐसे ही एक फिल्म कलाकार से आपको रूबरू कराने वाले हैं, जो अपनी मेहनत और लगन से बॉलीवुड इंडस्ट्री पर अपना सिक्का जमाए हुए है. कहानी उस कलाकार की है, जिनका जीवन किसी फिल्म से कम नहीं हैं. हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड के सर्किट यानी अरशद वारसी की. जिन्होंने अपने किरदारों से करोड़ों लोगों का दिल जीता. आप सोच रहे होंगे कि आज ही हम आपको अरशद वारसी के बारे में क्यों बता रहे हैं तो आपको बता दें आज उनका बर्थडे है. बॉलीवुड के सर्किट आज 53 साल के हो गए हैं.

जाने-माने अभिनेता अरशद वारसी का जन्म 19 अप्रैल, 1968 को मुंबई में हुआ था. अरशद जब 14 साल के थे तब उनके माता- पिता का निधन हो गया था. उनके पिता को कैंसर था… अब ऐसे हालातों में किसी का बचपन गुजरा हो सोचिए अरशद पर क्या बीती होगी. तो मुश्किल का दौर शुरू हुआ जीने के लिए अरशद ने 17 साल की उम्र में ही सेल्समैन की जॉब शुरू कर दी… अब ऐसे हालातों का सीधा असर उनकी पढ़ाई पर पड़ा और वो सिर्फ 10वीं तक ही पढ़ पाए. सेल्समैन के बाद उन्होंने एक फोटो लैब में काम करना शुरू किया. डांस में इंस्ट्रस्ट होने की वजह से वारसी को मशहूर कोरियोग्राफर अकबर सामी के डांस ग्रुप में शामिल होने का मौका मिला और उनका रुझान फिल्मों की तरफ बढ़ने लगा. यहीं से उन्होंने कोरियोग्राफर के तौर पर काम करना शुरू कर दिया. साल 1987 में आई फिल्म ठिकाना और काश में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर महेश भट्ट के साथ काम किया. साल 1991 में अरशद वारसी ने इंडियन डांस कम्पिटीशन का खिताब अपने नाम किया और 21 साल की उम्र में लंदन में हुई मॉडर्न डांस चैंपियनशिप में जैज़ कैटेगरी में चौथा इनाम भी जीता. जीते हुए पैसों से अरशद वारसी ने ऑसम नाम से अपना डांस स्टूडियो खोला और फिर अरशद तेजी से आगे बढ़ते चले गए.

डांस और एक्टिंग का हुनर रखने वाले अरशद वारसी को अपना पहला ब्रेक 1996 में बतौर हीरो अमिताभ बच्चन की होम प्रोडक्शन कंपनी के बैनर तले मिला .1996 में आई फिल्म 'तेरे मेरे सपने' से अरशद ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की. ये फिल्म हिट रही और कई लोग अरशद को बतौर एक्टर जानने लगे… लेकिन इसके बाद 2003 तक उन्होंने जितनी भी फिल्मों में काम किया वो खास नहीं चलीं. एक के बाद एक फ्लॉप रहीं, बावजूद इसके अरशद ने हार नहीं मानी. बता दें अरशद के करियर को नई पहचान देनी वाली फिल्म 2003 में उन्हें मिली जिसने उनके करियर को ट्रैक पर ला दिया. पूरी तरह फ्लॉप साबित हो रहे अरशद वारसी जैसे ही मुन्नाभाई एमबीबीएस में सर्किट बने उनका करियर पूरा बदल गया.

मुन्नाभाई एमबीबीएस में अरशद वारसी ने सर्किट का किरदार निभाया जिसमें उनका अभिनय की जमकर तारीफ हुई. उनकी कॉमेडी टाइमिंग के कई आलोचक भी कायल हो गए. ये फिल्म बड़ी हिट साबित हुई और इसका फायदा ये हुआ कि अरशद में अब डायरेक्टरों को अच्छा कॉमेडियन भी दिखने लगा. इसके बाद उनके सामने एक से बढ़कर एक फिल्मों की लाइन सी लग गई. मुन्नाभाई एमबीबीएस के लिए पहली बार अरशद वारसी को फिल्मफेयर अवॉर्ड फॉर बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के लिए नॉमिनेट किया गया.

मुन्नाभाई MBBS के बाद अरशद की कई फिल्में हिट रहीं. इन फिल्मों में मैंने प्यार क्यूं किया, सलाम नमस्ते, गोलमाल और लगे रहो मुन्नाभाई, फिल्म लगे रहो मुन्नाभाई के लिए उन्हें पहला फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला. अरशद वारसी की फिल्म इश्कियां भी कामयाब फिल्मों में से एक रही. एक तरफ जहां अरशद वारसी ने अभिनेता संजय दत्त के साथ कॉमिक रोल किया तो वहीं अजय देवगन जैसे अभिनेता के साथ 'गोलमाल', गोलमाल रिटर्न' और 'सन्डे' जैसी फिल्मों में निभाए गए उनके कैरेक्टर को खूब पसंद किया गया. धमाल, डबल धमाल, जॉली एलएलबी, फ्रॉड सैंया, जिला गाजियाबाद जैसी फिल्मों में भी अरशद वारसी के अभिनय को जमकर सराहा गया. इनके अलावा भी बॉलीवुड के सर्किट ने दर्जनों फिल्मों में काम किया और अपने अभिनय से एक अलग छाप छोड़ी हैं.

एक्टिंग के साथ-साथ फिल्मों में अरशद अपनी खास डायलॉग डिलेवरी के लिए भी जाने-जाते हैं. उनके फनी डायलॉग्स ऑडियंस को खूब एंटरटेन करते हैं. अरशद वारसी को छोटे पर्दे यानी टीवी शोज में भी देखा गया… उन्होंने बिग बॉस के पहले सीजन को होस्ट किया था. कुछ रियलिटी शोज में उन्हें जज के तौर पर भी देखा गया. अरशद वारसी की पर्सनल लाइफ की बात करें साल 1999 में उनकी शादी वीजे रह चुकी मारिया गोरेटी के साथ हुई. जिनसे उनके दो बच्चे एक बेटा और एक बेटी हैं…बर्थडे के खास मौके पर ये थी बॉलीवुड के सर्किट की कहानी… हमारी तरफ से भी अरशद वारसी को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here