झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के करीबी प्रेम प्रकाश के घर मिली दो-दो AK-47, भाजपा ने की NIA जांच की मांग

0
55

झारखंड की राजधानी रांची में अवैध खनन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) बड़ी कार्रवाई में जुटी है. इसी बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बेहद करीबी माने जाने वाले प्रेम प्रकाश के घर ईडी को दो-दो AK-47 बरामद हुए है, जिसे प्रेम प्रकाश ने अपने अलमारी में सजा रखा था. प्रेम प्रकाश के घर AK-47 की खबर सामने आने के बाद राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने इसे राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया है और NIA जांच की मांग की है.

बता दें, अवैध खनन मामले में ED की टीम ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के करीबी प्रेम प्रकाश के रांची स्थित आवास समेत करीब 11 ठिकानों पर छापेमारी की है. इसी दौरान ED की टीम को प्रेम प्रकाश के घर पर AK-47 हथियार मिले है. जिसके बाद CRPF ने मोर्चा संभाल लिया है. सिर्फ झारखंड ही नहीं बल्कि बिहार समेत देश के कई हिस्सों में छापेमारी जारी है. रडार पर रांची में प्रेम प्रकाश के ठिकानें है. झारखंड के सियासी गलियारे में प्रेम प्रकाश को पीपी के नाम से जाना जाता है. ये छापेमारी अवैध खनन को लेकर थी, लेकिन अब वहां से AK-47 मिलने के बाद मामले में नया मोड़ आ गया है.

प्रेम प्रकाश को झारखंड का सबसे पवारफुल शख्स माना जाता है. IAS, IPS अधिकारियों की ट्रांसफर पोस्टिंग, ठेकों और कई अहम काम को प्रेम प्रकाश चुटियों में मैनेज करता है. झारखंड के नौकरशाहों और राजनीतिक दलों में मजबूत पकड़ रखने वाले प्रेम प्रकाश पर कई अनुचित काम कराने का आरोप लंबे समय से लगते आया है, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा और अन्य से पूछताछ के बाद ED ने नए सिरे से छापेमारी शुरू की थी. इसी दौरान प्रेम प्रकाश ऊर्फ पीपी का नाम सामने आया था. फिर ED ने प्रेम प्रकाश पर शिकंजा कस दिया.

खबरों के मुताबिक प्रेम प्रकाश कभी बैंक में एक साधारण कर्मचारी हुआ करता था, लेकिन अब झारखंड का सबसे पावरफुल शख्स बन गया है और पर ED के शिकंजे में फंस गया है. वहीं, छापेमारी के दौरान बरामद हुए दो-दो AK-47 को लेकर झारखंड भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि इस तरीके से AK-47 मिलना अत्यंत ही चिंताजनक मुद्दा है. अत्याधुनिक और प्रतिबंधित हथियार एक लाइजनर के घर कैसे पहुंचा यह पूरे जांच का विषय है. इस घटना के तार सीधे तौर पर राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े है तो इसलिए इसकी जांच NIA से भी करानी चाहिए.

बता दें, झारखंड के अवैधन खनन मामले में ED ने 50 बैंक खातों में पड़ी 13.32 करोड़ रुपए, 5.31 करोड़ रुपए की बेहिसाब नकदी, अवैध रूस से संचालित स्टोन क्रशर और अन्य सामान जब्त किए थे. ये पैसा और सामान झारखंड सीएम के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा और उसके सहयोगी दाहू यादव सहित अन्य के थे. ED ने पंकज मिश्रा को अरेस्ट भी किया था. जिसके बाद उससे पूछताछ के बाद प्रेम प्रकाश के ठिकानो पर छापेमारी की जा रही है. वहीं, छापेमारी के दौरान दो-दो AK-47 मिलने से सियासत तेज हो गई है, प्रेम प्रकाश के साथ-साथ सरकार पर भी सवाल खड़े हो रहें हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here