‘पवार’ के सीएम पद के ऑफर को एकनाथ शिंदे ने ठुकराया, बोले- ‘Hindutva Forever’

0
33

उद्धव ठाकरे से नाराज चल रहे शिवसेना के कद्दावर नेता एकनाथ शिंदे को मनाने सारी कवायद फेल हो रही है. दरअसल, NCP चीफ शरद पवार ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर शिंदे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने की पेशकश की, लेकिन शिंदे ने शरद पवार का यह ऑफर ठुकरा दिया है और ट्विटर ‘Hindutva Forever’ का संदेश लिखकर यह जता दिया कि पिछले दो-ढाई सालों में शिवसेना और शिव सैनिक दोनों कमजोर हुए है.

एकनाथ शिंदे ने ट्विटर पर लिखा, पिछले दो-ढाई साल में महाविकास अघाड़ी सरकार के दूसरे घटक दलों (NCP, कांग्रेस) को ही फायदा पहुंचा है. शिव सैनिक हाशिए पर रहे. घटक दल जहां मजबूत होते गए. वहीं, शिवसेना और शिव सैनिक सिस्टिमैटिक ढंग से कमजोर हुए. शिवसेना और शिव सैनिकों को बरकरार रखने के लिए बेमेल गठबंधन से बाहर आना जरूरी है. महाराष्ट्र के हित में फैसला लिया जाना जरूरी है.

बता दें, महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और NCP गठबंधन की सरकार है. इस बीच शिवसेना के कद्दावर नेता एकनाथ शिंदे ने बगावत कर दी है. शिंदे शिवसेना के करीब 40 विधायकों के साथ गुवाहाटी में हैं और खुद के गुट को असली शिवसेना बता रहे हैं.

वहीं, पवार से मुलाकात से ठीक पहले मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों को संबोधित किया, उन्होंने सरकार पर आए संकट पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि अगर बागी विधायक उनसे यह कहते हैं कि वह उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते, तो वह अपना पद छोड़ने के लिए तैयार हैं.

उद्धव ठाकरे ने कहा, सूरत और अन्य जगहों से बयान क्यों दे रहे हैं? मेरे सामने आकर मुझसे कह दें कि मैं मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष के पदों को संभालने में सक्षम नहीं हूं. मैं तत्काल इस्तीफा दे दूंगा. मैं अपना इस्तीफा तैयार रखूंगा और आप आकर उसे राजभवन ले जा सकते हैं.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुख्यमंत्री पद पर किसी शिव सैनिक को अपना उत्तराधिकारी देखकर उन्हें खुशी होगी. ठाकरे ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार के सुझाव पर अपनी अनुभवहीनता के बावजूद मुख्यमंत्री का पद संभाला.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here