इस बार चांद का नहीं हुआ दीदार, 14 मई को मनाई जाएगी ईद

0
20
Eid

रमजान का पाक महीना चल रहा है. इस पाक महीने में इस बार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत देश के किसी भी हिस्से में ईद का चांद नहीं दिखाई दिया है. दरअसल, बुधवार को मौसम खराब होने की वजह से चांद का दीदार नहीं हुआ. इसलिए ईद-उल-फितर का त्यौहार शुक्रवार 14 मई को मनाया जाएगा मतलब गुरुवार को 30वां और आखिरी रोजा होगा.

Eid

फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम ने बताया कि, ‘बुधवार को देशभर में कहीं भी ईद का चांद नजर नहीं आया है. इसलिए ईद का त्यौहार शुक्रवार 14 मई को मनाया जाएगा. मतलब गुरुवार को 30वां रोजा होगा और शव्वाल (इस्लामी कलेंडर का 10वां माह) की पहली तारीख शुक्रवार को होगी. बता दें, शव्वाल के महीने के पहले दिन ईद होती है.

Eid

वहीं, जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने एक वीडियो जारी कर कहा कि कहीं से भी चांद दिखने की कोई खबर नहीं है. अब ईद 14 मई शुक्रवार के दिन होगी और मैं आपको ईद की मुबारकबाद पेश करता हूं.

Eid

दरअअसल, मुसलमानों के लिए अभी इस्लामी कलेंडर का नौवां महीना रमजान चल रहा है, जिसमें समुदाय के लोग रोजा रखते हैं. रमजान के महीने में रोजेदार सुबह सूरज निकलने से पहले से लेकर सूरज डूबने तक कुछ नहीं खाते पीते हैं. यह महीना ईद का चांद नजर आने के साथ खत्म होता है.

Eid

इससे पहले जामा मस्जिद के शाही इमाम ने मुसलमानों से अपील की है कि वे कोविड-19 की
स्थिति को देखते हुए ईद की नमाज घर में ही पढ़ी जाए तो बेहतर है. रमजान में हमने घरों में रहकर इबादत की. पिछले साल हमने घरों में ही ईद की नमाज अदा की थी. बीमारी का डर अब भी मौजूद है और संक्रमण बहुत ज्यादा है. लिहाजा सभी लोगों से अपील करूंगा कि ईद वाले दिन भी मस्जिद की तरफ ना आएं बल्कि घरों में ही इबादत करें. शरीयत में इसकी इजाजत मौजूद है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here