माफिया मुख्तार के ठिकानों पर ED की ताबड़तोड़ कार्रवाई, राजधानी लखनऊ से लेकर दिल्ली तक चल रही छापेमारी

0
52

यूपी की बांदा जेल में बंद माफिया और पूर्व बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्रवाई की है. यूपी की राजधानी लखनऊ, दिल्ली और गाजीपुर समेत मुख्तार अंसारी के कई ठिकानों पर ED की छापेमारी चल रही है. ये छापेमारी मुख्तार अंसारी और उसके करीबों के घर चल रही है. इतना ही नहीं, मुख्तार अंसारी के गाजीपुर के मोहम्मदाबाद स्थित घर पर भी छापेमारी की गई है.

ED ने मुख्तार अंसारी और उसके करीबियों पर शिकंजा कसा रही है. ED ने दिल्ली और यूपी के लखनऊ, मऊ और गाजीपुर जिलों में करीब 11 ठिकानों पर छापेमारी की है. इसमें गाजीपुर स्थित मोहम्मदाबाद स्थित अंसारी का घर भी शामिल है. इसके अलावा ED ने अफजाल अंसारी, विक्रम अग्रहरी, गणेश मिश्रा और खान बस सर्विस के मालिक के यहां भी छापे मारे हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक ED की टीम ने सुबह करीब 7 बजे CRPF के साथ मिश्रबाजार स्थित आभूषण व्यवसायी विक्रम अग्रहरी, खान ट्रेवल्स संचालक टाउन हाल के सराय गली निवासी मुस्ताक खां, रौजा स्थित व्यवसायी गणेश दत्त मिश्रा और मुहम्मदाबाद स्थिति गाजीपुर सांसद अफजाल अंसारी के फाटक आवास पर छापेमारी चल रही है. इस दौरान मकान के प्रमुख दरवाजे से लेकर सड़क तक CRPF का कड़ा पहरा है. फिलहाल छापेमारी जारी है. इस छापेमारी से हडकंप मचा हुआ है.

दरअसल, मुख्तार अंसारी पर ED ने एक जुलाई 2021 को मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था. आरोप है कि मुख्तार ने एक सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किया और फिर उसे सात साल के लिए 1.7 करोड़ रुपए प्रति वर्ष के हिसाब से एक प्राइवेट कंपनी को किराए पर दे दिया. इस कंपनी से मुख्तार के भाईयों और बेटे का भी संबंध होने को आरोप था. मामला सामने आने के बाद ED ने इस मामले में माफिया मुख्तार अंसारी, उनके भाई सांसद अफजाल अंसारी समेत कई अन्य को आरोपी बनाया गया है. जिसमें भ्रष्टाचार और विधायक निधि गबन और आय से अधिक संपत्ति को लेकर दर्ज मुकदमों को आधार बनाते हुए ED ने केस दर्ज किया है. इस मामले में 9 मई को सांसद अफजाल अंसारी को तलब कर ED की प्रयागराज टीम ने पूछताछ की थी. टीम ने 10 घंटे से अधिक समय तक अफजाल से पूछताछ कर बयान दर्ज किया था.

माफिया और पूर्व बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और उनके भाई अफजाल अंसारी समेत पूरे परिवार, रिश्तेदार और करीबियों की राजधानी में संपत्तियां खंगाली जा रही हैं. मुख्तार अंसारी, भाई अफजाल अंसारी, मुख्तार की पत्नी आफशां, बेटे अब्बास, उमर के साथ ही अतीफ रजा पुत्र जमशेद रजा और उनके सहयोगियों, करीबियों का ब्योरा ED ने मांगा है. मुख्तार के सात बैंक खाते, अफजाल के 3 बैंक खातों को भी ED ने पहले ही खंगाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here