मुस्लिम वोटर्स पर घिरी दीदी, चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस, 48 घंटे में देना होगा जवाब

0
12
election commission bengal election 2021

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की तीन फेस की वोटिंग हो चुकी है और चौथे फेस की 44 सीटों पर प्रचार अभियान गुरुवार (8 अप्रैल) शाम थम जाएगा. इस 44 सीटों पर (शनिवार) 10 अप्रैल को वोटिंग होनी है. इससे पहले तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी की मुश्किलें बढ़ गई है. दरअसल, चुनाव आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर ममता बनर्जी को नोटिस जारी किया है. चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी को अगले 48 घंटे के अंदर नोटिस का जवाब देने को कहा है.

बता दें, बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की अगुवाई वाली बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार (6 अप्रैल) को चुनाव आयोग से मुलाकात कर ममता बनर्जी की शिकायत की थी. बीजेपी ने ममता पर आरोप लगाया है कि उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान मुस्लिम वोटरों से एकजुट होकर अपना वोट टीएमसी को डालने की अपील की थीं. इसी को लेकर चुनाव आयोग ने नोटिस जारी करते हुए कहा है कि ममता बनर्जी की टिप्पणी ने आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन किया है. बता दें, ममता बनर्जी ने यह टिप्पणी हुंगली जिले के तारकेश्वर में की थीं.

चुनाव आयोग से मिलने के बाद मुख्तार अब्बास नकवी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि पश्चिम बंगाल में आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है. टीएमसी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि मुसलमानों को एकजुट होकर टीएमसी को वोट करना चाहिए. हमने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि ममता बनर्जी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाए.


पीएम मोदी ने की दीदी पर तल्ख टिप्पणी

प्रधानमंत्री नेरंद्र मोदी ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला और दावा किया कि वोटों का बिखराव ना हो, इसके लिए मुसलमानों से एकजुट हो जाने की उनकी अपील स्पष्ट करती है कि तृणमूल कांग्रेस विधानसभा चुनाव की जंग हार गई है. प्रधानमंत्री ने राज्य में दो चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए दावा किया यदि उन्होंने इसी प्रकार सभी हिन्दुओं को एकजुट हो जाने और भाजपा को मत देने की अपील की होती तो उन्हें निर्वाचन आयोग के आठ-दस नोटिस मिल गए होते और देश भर के अखबारों में उनके खिलाफ संपादकीय छप जाते.


जानिए ममता बनर्जी ने क्या कहा था?

चुनाव आयोग के नोटिस के मुताबिक ममता बनर्जी ने कहा था ‘मैं अपने अल्पसंख्यक भाइयों और बहनों से हाथ जोड़कर निवेदन कर रहा हूं, शैतान व्यक्ति जिसने बीजेपी से पैसा लिया था, को सुनने के बाद अल्पसंख्यक मतों को विभाजित ना करें. वह भाजपा के प्रेषितों में से एक हैं, जो भाजपा का साथी है. अल्पसंख्यक वोटों को विभाजित करने के लिए सीपीएम और बीआईपी के लोग बीजेपी द्वारा दिए गए पैसों के साथ साथ घूम रहे हैं.’

ये भी पढ़ें -8 साल बाद भारत-पाकिस्तान के बीच होगी द्विपक्षीय सीरीज, भारत के खिलाफ पाकिस्तानी खिलाड़ियों की तैयारी जोरों पर

Download – Local Vocal Hindi News App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here