योगी मंत्रिमंडल से हो सकती है डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की छुट्टी, संगठन में हो सकती है वापसी

0
14

कोरोना मामलें कम होने के बाद एक बार फिर से यूपी में योगी मंत्रिमंडल में बड़े फेरबदल की चर्चाएं जोरों पर हैं. कई मंत्रियों को पदमुक्त भी किया जा सकता है. वहीं मौजूदा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की एक बार फिर से संगठन में वापसी हो सकती है. चर्चा यह भी है कि नौकरशाह से नेता बने प्रधानमंत्री मोदी के चहेते अरविंद कुमार शर्मा को योगी मंत्रिमंडल में अहम जिम्मेदारी मिल सकती है. वहीं पार्टी सूत्रों की मानें तो प्रदेश के जिन जिलों में पंचायत चुनाव में प्रदर्शन खराब रहा और कोरोना में वहां के प्रभारी मंत्री खरें नहीं उतरे हैं. उन्हें पदमुक्त किया जा सकता है.

राज्यपाल से भी मुलाकात कर चुके हैं सीएम योगी

पिछले दिनों सीएम योगी ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से भी मुलाकात की थी, जिसके बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना तेज हो गई थी. हालांकि सीएम ने इसे केवल एक औपचारिक मुलाकात बताया था. विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राज्यपाल और सीएम के बीच करीब 50 मिनट की वार्ता हुई थी. इस दौरान सीएम ने कोरोना को लेकर प्रदेश में किए जा रहें कार्यों से भी राज्यपाल को अवगत कराया था.

तो इसलिए डिप्टी सीएम केशव के मंत्रिमंडल से हटने की है संभावना

सीएम योगी और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के बीच आपसी खींचतान कई बार सामने आ चुकी है. ऐसे में यह संभावना जताई जा रही है कि मंत्रिमंडल विस्तार में मौजूदा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की छुट्टी हो सकती है. केशव एक बार फिर प्रदेश भाजपा संगठन की कमान संभाल सकते हैं. मौजूदा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी हटाया जा सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार लोक निर्माण विभाग की समीक्षा खुद सीएम योगी करते थे. यहां तक कि लोक निर्माण विभाग के एमडी की नियुक्ति भी सीएम कार्यालय से होती थी. इन सबसे के कारण सीएम योगी और केशव प्रसाद मौर्य में आपसी मनमुटाव रहता था.

आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए होगा मंत्रिमंडल का विस्तार

प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा. यूपी के नाराज किसानों और जाट समुदाय को भी साधने की कोशिश हो सकती है. लिहाजा मंत्रिमंडल में पश्चिमी यूपी और पूर्वांचल के चेहरे को भी शामिल किया जा सकता है. योगी सरकार से नाराज चल रहे ब्रांह्मण समुदाय को भी मंत्रिमंडल विस्तार में साधने की कोशिश हो सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here