दिल्लीः केंद्रीय कैबिनेट ने आदिवासियों को लेकर लिया बड़ा फैसला! इन पांच राज्यों की कई जातियों को ST में किया शामिल

0
56

केंद्र की मोदी सरकार ने आदिवासियों को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है. गोंड समेत कई जातियों को अनुसूचित जाति से हटाकर अनुसूचित जनजाति में शामिल किया गया है. केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने यह जानकारी दी है कि देश के 5 राज्यों के जातियों को अनुसूचित जनजाति में सम्मिलित किया गया है. इनमें छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश में कई जनजातीय समुदायों को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल किया गया है.

यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया है. मंत्रिमंडल ने छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जनजातियों की सूची में बृजिया समुदाय को जोड़ने का प्रस्ताव को मंजूरी दी है. भाजपा ने उत्तर प्रदेश चुनाव में गोंड जाति को अनुसूचित जनजाति की सूची में शामिल करने के लिए कानून लाने का वादा किया था. गोंड जाति के पांच उप जातियों धुरिया, नायक, ओझा, पठारी, राजगोंड को भी अनुसूचित जनजाति में शामिल किया गया है.

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने बताया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जनजातियों की सूची में बृजिया समुदाय को जोड़ने के प्रस्ताव को मंजूरी दी. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के ट्रांस-गिरी क्षेत्र में हट्टी समुदाय को अनुसूचित जनजाति सूची में जोड़ने के लिए कैबिनेट की मंजूरी मिली है, साथ ही कैबिनेट ने तमिलनाडु की पहाड़ियों में रहने वाले नारिकुरावर समुदाय को अनुसूचित जनजाति की सूची में जोड़ने के प्रस्ताव को मंजूरी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here