धर्म की रक्षा पार्टी से ज्यादा जरूरी!, मैं पीएम मोदी और शाह का ‘वफादार पैदल सैनिक’ बना रहूंगा…टी राजा सिंह का बयान

0
52

पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी करने वाले भाजपा विधायक टी. राजा सिंह को अदालत ने बीते मंगलवार जमानत पर रिहा कर दिया है, लेकिन उनकी गिरफ्तारी के दौरान उन्हें पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया और उनसे 10 दिनों के भीतर जवाब मांगा गया, उन्हें पार्टी से क्यों ना निकाला जाए? इसी पर टी. राजा सिंह ने अपना दाखिल किया है, टी. राजा सिंह ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है, साथ ही कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के ‘वफादार पैदल सैनिक’ बने रहेंगे. टी. राजा सिंह ने कहा कि ‘पार्टी से ज्यादा मेरे लिए धर्म की रक्षा करना महत्वपूर्ण है.’

दरअसल, कथित रूप से आहत करने वाला वीडियो, जिसमें कि राजा के सिर काटने का आह्वान शामिल था, उसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से हटा दिया गया था. विधायक टी. राजा ने कहा था कि वे वीडियो के पार्ट-2 को जारी करेंगे, जिसमें कथित तौर पर ऐसी और टिप्पणियां हैं.

बता दें, पुलिस ने टी. राजा सिंह के खिलाफ दबीरपुरा और मंगलहट में अलग-अलग मामले दर्ज किए, उन पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने, धार्मिक भावनाओं को भड़काने, जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्यों और आपराधिक धमकी देने का आरोप लगाया। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमें उनके खिलाफ शहर के विभिन्न पुलिस थानों में शिकायतें मिल रही हैं, जिसको लेकर जांच की जा रही है.

गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद को लेकर की गई टिप्पणी का विवाद तब शुरू हुआ जब राजा ने कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के शो को रुकवाने की धमकी दी थी. मुनव्वर फारूकी का 21 अगस्त को हैदराबाद में शो होना था. टी. राजा सिंह ने धमकी दी कि अगर शो रद्द नहीं किया गया तो वे कार्यक्रम स्थल को आग लगा देंगे, उन्होंने स्पष्ट रूप से इस वीडियो को भी प्रसारित किया, जिसके कारण 20 अगस्त को उनकी गिरफ्तारी की गई. जब TRC सरकार ने फारूकी को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शहर में प्रदर्शन करने की घोषणा की. तब इस वीडियो को एक स्थानीय टीवी चैनल पर प्रसारित भी किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here