राम मंदिर की जमीन पर करोड़ों का गड़बड़ घोटाला, मिनटों में बिक गई दो करोड़ जमीन 18 करोड़ में!

0
42
scam on Ram temple

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले यहां पर राजनीति गरमा गई है. अयोध्या नगरी में बन रहे राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर से सुर्खियों में आ गया है और राजनीति गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई है. दरअसल, राम मंदिर की जमीन खरीदी पर करोड़ों रुपए के घोटाले का आरोप लगा है, यह आरोप अयोध्या के पूर्व विधायक और सपा सरकार में राज्यमंत्री रहे चुके तेज नारायण पांडे उर्फ पवन पांडे और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने लगाया है, उन्होंने कहा कि ट्रस्ट ने दो करोड़ की जमीन को 18.5 करोड़ रुपए में खरीदी थी, उन्होंने दावा किया है कि महज 10 मिनट के भीतर दो करोड़ की जमीन को 18.5 करोड़ में बेचा गया.

scam on Ram temple

राम मंदिर ट्रस्ट पर आरोप लगा है कि दो करोड़ में जमीन का बैनामा हुआ और उसी दिन फिर 18.5 करोड़ का एग्रीमेंट हुआ. एग्रीमेंट और बैनामा दोनों में ही ट्रस्टी अनिल मिश्रा और मेयर ऋषिकेष उपाध्याय गवाह हैं. 18 मार्च 2021 को ही करीब 10 मिनट पहले बैनामा भी हुआ और फिर एग्रीमेंट भी, जिस जमीन को दो करोड़ में खरीदा गया उसी जमीन का 10 मिनट बाद 18.5 करोड़ में एग्रीमेंट क्यों हुआ?

scam on Ram temple
पूर्व मंत्री पवन पांडे ने उठाए सवाल

पवन पांडेय ने सवाल उठाए हैं कि मिनटों में ही 2 करोड़ की कीमत की जमीन 18.5 करोड़ कैसे हो गई? राम मंदिर के नाम पर जमीन खरीदने के बहाने राम भक्तों को ठगा जा रहा है, उन्होंने यह भी दावा किया है कि जमीन खरीदने का सारा खेल मेयर और ट्रस्टी को मालूम था. इस पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए, 17 करोड़ रुपए RTGS किया गया, किस खाते से पेमेंट हुआ इसकी भी जांच हो. उन्होंने कहा कि प्रभु श्री राम के नाम पर जमीन खरीद में भ्रष्टाचार हो रहा है. 12080 वर्ग मीटर यानि 1.208 हेक्टेयर जमीन का बैनामा और एंग्रीमेंट हुआ बाबा हरिदास ने सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी को बेचा और उसी को ट्रस्ट ने खरीदा. 10 मिनट में जमीन की कीमत 16 करोड़ बढ़ गई.

scam on Ram temple

वहीं, आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह का भी यही दावा है कि ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा और अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय रजिस्ट्री के गवाह थे, उन्होंने इस मामले की सीबीआई और ईडी से जांच की मांग की है. संजय सिंह ने कहा, ‘मर्यादा पुरूषोत्तम प्रभु श्री राम के नाम पर इतना बड़ा घोटाला सुनकर आपके पैरों के नीचे जमीन खिसक जाएगी. श्री राम जन्म भूमि न्यास में घोटाला, मर्यादा पुरूषोत्तम प्रभु श्री राम के नाम पर जमीन खरीद में भारी घोटाला. ये देश के करोड़ों लोगों की आस्था पर आघात है. मोदी जी ईडी-सीबीआई से जांच कराकर घोटाले बाजों को जेल में डालो.’

scam on Ram temple


राम जन्मभूमि तीर्थ के महासचिव का आया बयान

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव और विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के नेता चंपत राय ने आधिकारिक पत्र जारी कर इन आरोपों का खंडन किया है, उन्होंने कहा है कि वास्तु के अनुसार सुधार के लिए मंदिर परिसर के पूर्व और पश्चिम दिशा में यात्रा को सुलभ बनाने औऔर मंदिर परिसर की सुरक्षा के लिए कुछ छोटे-बड़े मंदिर और गृहस्थों के मकान खरीदने जरूरी हैं. जिनसे मकान खरीदा जाएगा, उन्हें पुनर्वास के लिए जमीनें दी जाएंगी. इस काम के लिए भूमि की खरीदारी की जा रही है, उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने अभी तक जितनी जमीनें खरीदी हैं, वह खुले बाजार की कीमत से बहुत कम हैं. लोग राजनीतिक विद्वेष से प्रेरित होकर भ्रम फैला रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here