देश की 2 प्रतिशत आबादी में है कोरोना, 98 प्रतिशत लोगों पर मंडरा रहा है संक्रमण का खतरा

0
11
Corona

हाल ही में केंद्र सरकार की तरफ से कहा गया है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर से दो फीसदी आबादी ही प्रभावित हुई है तो सरकार का बयान के हिसाब से तो 98 फीसदी आबादी को अभी भी संक्रमण का खतरा बना हुआ है। इसलिए लोगों के लिए जरूरी है कि सावधानियां बरतें। हालांकि इस बात को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने राहत जताई है कि संक्रमण की इतनी ज्यादा संख्या के बावजूद हम दो फीसदी से कम आबादी तक इसे सीमित रखने में सफल हुए हैं।

मंत्रालय के अनुसार पिछले 15 दिनों में इलाज चलने वालों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। तीन मई को एक्टिव केस 17.13 फीसदी थे जो अब घटकर 13.3 फीसदी रह गए हैं। इसी तरह ठीक होने वाले लोगों का प्रतिशत भी 81.7 से बढ़कर 85.6 हो गया है। वहीं आठ राज्यों में कोविड-19 के एक लाख से ज्यादा मामले हैं और 22 राज्यों में संक्रमण की दर 15 फीसदी से ज्यादा है। यानी ये आंकड़ा लगातार घट रहा है। बात करें महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, दिल्ली, बिहार, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की तो इन राज्यों नें भी कोविड के मामलों में कमी आई है।

लेकिन ICMR ने जो सर्वे कराया है वो सर्वे कुछ और ही कहता है। इस सर्वे के मुताबिक बीते साल दिसंबर महीने तक देश की आबादी का पांचवां हिस्सा यानी 21.4 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के के आंकडों के मुताबिक भारत में 1.8 प्रतिशत आबादी कोरोना से प्रभावित हुई है जबकि अमेरिका की 10.1 फीसदी, ब्राजील की 7.3 फीसदी, फ्रांस की 9 फीसदी और इटली की 7.4 फीसदी आबादी कोरोना संक्रमित हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here