चंडीगढ़ MMS कांडः आरोपी लड़की के मोबाइल से और मिले 12 आपत्तिजनक वीडियो, एक और आरोपी अरेस्ट

0
69

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS कांड में गिरफ्तार आरोपी लड़की के मोबाइल से 12 और आपत्तिजनक वीडियो मिले है. जिसकी जांच पंजाब पुलिस कर रही है. वहीं, इस केस में एक और आरोपी की गिरफ्तारी हुई है अबतक कुल चार गिरफ्तारी हो चुकी है. MMS कांड की जांच कर रही पंजाब पुलिस को इस केस से जुड़े और कई तथ्य हाथ लगे है.

बता दें, सभी आरोपी (छात्रा, उसका बॉयफ्रेंड सनी मेहता और उसका दोस्त रंकज वर्मा) को एक साथ आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की जा रही है. इसके अलावा सभी के मोबाइल बरामद कर उनको फोरेंसिक जांच के लिए भेजे गए हैं. इस मामला सामने आने के बाद किस मोबाइल फोन से वीडियो और डेटा डिलीट किए गए हैं इसकी जानकारी भी जुटाई जा रही है. छात्रा का लैपटॉप भी बरामद कर जांच के लिए भेज दिया गया है.

पंजाब पुलिस की मानें, तो आरोपी छात्रा के फोन से जो अन्य 12 वीडियो और बरामद किए गए हैं. वह उसके खुद अपने हैं और सभी वीडियो आपत्तिजनक बताए जा रहे हैं. पुलिस ने मोबाइल के बाद छात्रा का लैपटॉप भी कब्जे में ले लिया है. वहीं अब इस केस में जिस चौथे शख्स की एंट्री हुई है उसका नाम मोहित बताया जा रहा है, जो आरोपी छात्रा से लगातार वॉट्सऐप चैट के जरिए बात कर रहा था. इस चैट में मोहित छात्रा को वीडियो और फोटोज डिलीट करने कह रहा है. इसका जबाव देते हुए लड़की ने लिखा- ‘आज तो मर ही जाते, हॉस्टल की एक लड़की ने उसे एक नहाती हुई छात्रा की फोटो लेते हुए देख लिया था’.

पंजाब पुलिस की जांच के मुताबिक आरोपी छात्रा ने सबसे पहले अपने वीडियो उसके बॉयफ्रेंड सनी मेहता को भेजे थे, लेकिन सनी ने इन वीडियो के दम पर छात्रा का फायदा उठाना चाहा और उसको ब्लैकमेल करने लगा. इतना ही नहीं सनी ने इन वीडियो को अपने दोस्त रंकज वर्मा को शेयर कर दिए. फिर दोनों इस वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर छात्रा से हॉस्टल की अन्य छात्राओं के वीडियो और फोटो भेजने की डिमांड करने लगे.

पंजाब पुलिस की मानें तो सनी और रंकज दोनों आरोपी इन वीडियो को कई जगह भेजे हैं. इसके साथ ही आरोपियों के फोन से दिल्ली, मुंबई और गुजरात में लगातार बात की गई है. पुलिस को आशंका है कि इन आरोपियों का किसी बड़े नेटवर्क से तार जुड़े हो सकते हैं. पूरे मामले की बारीकी से जांच की जा रही है.

आरोपी छात्रा का बाकायदा पंजाब पुलिस को दिया बयान है कि उसका बॉयफ्रेंड सनी मेहता उसे ब्लैकमेल कर रहा था. रंकज वर्मा और सनी मेहता सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. इसलिए वह उनसे डर गई थी. चंडीगढ़ कोर्ट ने तीनों को 7 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. पुलिस की पूछताछ में तीनों अहम खुलासे कर रहे हैं. अब इस केस में चौथे शख्स की भी एंट्री हो गई है. पुलिस ने उसे भी रडार पर ले लिया है.

गौरतलब है कि चंडीगढ़ की यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों के वीडियो लीक के मामले में जांच के लिए सोमवार को पंजाब सरकार ने एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) का गठन किया है. एक तरफ जहां पुलिस की SIT में तीन महिला अफपर हैं. तो वहीं यूनिवर्सिटी की जांच कमेटी में 5 प्रोफेसर और 3 छात्र हैं. दोनों टीमें अपने-अपने स्थर पर मामले की जांच में जुट गई हैं.

बता दें, यह पूरा मामला शनिवार शाम करीब साढ़े सात बजे उस दौरान सामने आया है, जब 100 से ज्यादा छात्राओं ने मोहाली यूनिवर्सिटी हॉस्टल में विरोध करना शुरू कर दिया. आधी रात के बाद भी हंगामा होता गया. लड़कियों के परिजन और स्टूडेंट यूनियन ने भी विरोध शुरू कर दिया.

दरअसल, छात्राओं का आरोप है कि गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली एक छात्रा ने 60 छात्राओं का नहाते हुए वीडियो बनाया था. बाद में उसने इन वीडियोज को शिमला में रहने वाले अपने बॉयफ्रेंड को भेज दिया है. जिसके बाद इस लड़के ने इन वीडियो को इंटरनेट पर अपलोड कर वायरल कर दिए. इसी को लेकर छात्राओं ने जमकर हंगामा किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here