दिल्ली की नई आबकारी नीति में घपले पर एक्शन, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर CBI का छापा

0
60

दिल्ली की नई एक्साइज पॉलिसी पर उपजे विवाद पर बवाल जारी है. इसी बीच दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया समेत 7 राज्यों के 21 ठिकानों पर सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) ने बड़ी छापेमारी हुई है.

बता दें, पिछले कुछ वक्त से नई शराब नीति पर दिल्ली के उप-राज्यपाल विजय कुमार सक्सेना और दिल्ली सरकार में तनातनी चली रही है. इसी मामले को लेकर दिल्ली के उप-राज्यपाल विजय कुमार सक्सेना ने CBI जांच की मंजूरी दी थी और अब CBI इस मामले में तबाड़तोड़ कार्रवाई कर रही है. दमन और दीव में भी CBI छापा चल रहा है. CBI के एक अधिकारी ने बताया कि मनीष सिसोदिया समेत 4 लोकसेवकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

CBI की टीम दिल्ली-NCR समेत 7 राज्यों के 21 ठिकानों पर दस्तावेज खंगाल रही है. इनमें सिसोदिया का सरकारी आवास और IAS अफसर अरवा गोपी कृष्णा के ठिकानों पर भी छापेमारी की गई है. गोपी कृष्णा ने ही नई एक्साइज पॉलिसी को तैयार किया था. इसके अलावा पॉलिसी से जुड़े रहे कुछ अन्य अधिकारियों के घर भी छापेमारी की सूचना है.

दिल्ली के उप-राज्यपाल विजय कुमार सक्सेना ने एक्साइज पॉलिसी 2021-22 के क्रियान्वयन में कथित अनियमितताओं की CBI से जांच कराने की सिफारिश की थी. दिल्ली के मुख्य सचिव की जुलाई में दी गई रिपोर्ट के आधार पर CBI जांच की सिफारिश की गई थी, जिसमें GNCTD अधिनियम 1991, कार्यकरण नियम (TOBR)-1993, दिल्ली उत्पाद शुल्क अधिनियम-2009 और दिल्ली उत्पाद शुल्क नियम-2010 का प्रथम दृष्टया उल्लंघन पाए जाने की बात कही गई थी.

इस बीच, सिसोदिया ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि वह CBI का स्वागत करते हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ‘CBI आई है. उनका स्वागत है. हम कट्टर ईमानदार हैं. लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं. बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है. इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-एक नहीं बन पाया.’ उन्होंने कहा, ‘हम CBI का स्वागत करते हैं. जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके. अभी तक मेरे खिलाफ कई मामले किए गए लेकिन कुछ नहीं निकला. इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा. देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता.’

वहीं, CBI की छापेमारी को लेकर भाजपा और आम आदमी पार्टी नेताओं के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने निशाना साधते हुए कहा, ‘भ्रष्टाचारी जितना मर्जी ईमानदारी का चोला पहन ले वह भ्रष्टाचारी ही रहता है. जिस दिन CBI को जांच दी उसी दिन शराब नीति वापस ली, अगर शराब नीति में कोई घोटाला नहीं था तो उसको वापस क्यों लिया? यह शिक्षा नहीं शराब की बात हो रही है. जनता को मूर्ख ना समझे.’

वहीं, कांग्रेस ने भी CBI की छापेमारी को लेकर आम आदमी पार्टी पर हमला किया है. कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने कहा, हम दिल्ली सरकार में होने वाली घटनाओं के बारे में सुन रहे थे. हैरानी की बात यह है कि छापेमारी पहले नहीं हुई. शराब का मामला हो, स्कूलों में कमरों का निर्माण हो, शिक्षकों की भर्ती हो, आप जहां भी देखें, वहां 10 CBI छापेमारी होनी चाहिए थी.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here