तेजस्वी यादव के मॉल पर CBI का छापा, जॉब स्कैम पर घिरे डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव!

0
57

बिहार राज्य में नीतीश की अगुवाई वाली महागठबंधन सरकार को आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट देने है. इस बीच रेलवे में नौकरी के बदले जमीन घोटाले की CBI ने जांच तेज कर दी है. इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के MLC सुनील सिंह समेत 4 नेताओं के ठिकानों पर बिहार में छापेमारी की है. यही नहीं इस जांच का दायरा गुरुग्राम तक पहुंच गया है और तेजस्वी यादव के मॉल पर छापेमारी की गई है. क्यूब्स 71 मॉल पर छापेमारी के लिए CBI की टीम पहुंची है और पड़ताल की गई है. CBI के सूत्रों का कहना है कि इस मॉल के निर्माण में जॉब घोटाले से मिली रकम का इस्तेमाल किया गया है. कहा जा रहा है कि यह मॉल तेजस्वी यादव और उनके एक सहयोगी का है.

बता दें, लालू यादव के रेल मंत्री रहते हुए रेलवे में नौकरी के बदले जमीन घोटाले की CBI जांच कर रही है. बुधवार सुबह ही CBI ने पटना में RJD के MLC सुनील सिंह और सांसद फैयाज अहमद के घर पर भी छापेमारी हुई है. इस मामले में CBI ने पटना, कटिहार और मधुबनी के अलावा दिल्ली में कई ठिकानों पर छापेमारी की है. इसके अलावा हरियाणा के गुरुग्राम में तेजस्वी यादव के मॉल पर रेड डाली गई है. कुल मिलाकर 25 ठिकानों पर केंद्रीय एजेंसी ने छापा मारा है. इसे लेकर सियासत भी तेज हो गई है और RJD ने इसे भाजपा की खुन्नस बताया है.

बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी का कहना है कि हम इस तरह के छापों से डरते नहीं हैं. उन्होंने कहा कि हमारे खिलाफ ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है. इसके अलावा तेजस्वी यादव ने सदन में ही इन छापों को लेकर जवाब देने की बात कही है. उन्होंने मीडिया से कहा कि आप लोग भी सदन में रहना. हम वहीं पर इन सभी बातों का जवाब देंगे. इसके अलावा आरजेडी के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा कि इसे ED, IT या CBI का छापा कहना गलत है. यह भाजपा की ही रेड है. ये सभी एजेंसियां भाजपा के तहत ही काम करती हैं. इनके दफ्तर भाजपा की स्क्रिप्ट पर ही काम करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here