श्रीकांत त्यागी पर डैमेज कंट्रोल में जुटी भाजपा, संजीव बालियान ने एक्शन पर उठा दिए सवाल

0
46

श्रीकांत त्यागी मामले को लेकर भाजपा के लिए मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं. पहले एक्शन में देरी को लेकर घिरी भाजपा अब ज्यादा सख्ती को लेकर ‘फंस’ गई है. जिस तरह त्यागी बिरादरी श्रीकांत के समर्थन में खड़ी हो गई है उसके बाद भाजपा को नुकसान की आशंका सताने लगी है. बीते शनिवार को नोएडा में जिस तरह महापंचायत में भारी भीड़ उमड़ी उससे भाजपा सतर्क हो गई है और डैमेज कंट्रोल में जुट गई है.

केंद्रीय मंत्री और पश्चिमी यूपी के बड़े जाट नेता संजीव बालियान ने कहा है कि जो कुछ भी श्रीकांत ने किया उसकी सजा उसे ही मिलनी चाहिए, उसके परिवार के साथ किसी तरह का अन्याय नहीं होना चाहिए, उन्होंने कहा, ‘त्यागी समाज ने हमेशा हमारे लिए वोट किया है. इसलिए यदि कुछ है तो हम बैठेंगे और उनसे बात करेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘श्रीकांत त्यागी ने जो किया उसकी सजा उसे ही मिले, लेकिन यह ठीक नहीं है जिस तरह उसके परिवार को परेशानियों का सामना करना पड़ा.’

इसी बीच नोएडा के डीएम सुहास लालिनाकेरे यथिराज ने कहा कि महापंचायत शांतिपूर्वक संपन्न हुई, उन्होंने कहा, ‘हमने उनसे ज्ञापन लिया है और प्रशासन इसकी जांच करेगा. इसके मुताबिक जरूरी कदम उठाए जाएंगे.’

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भी त्यागी समाज की इस महापंचायत को अपना समर्थन दिया. भाकियू के नेता और पदाधिकारी इस महापंचायत में खासे सक्रिय भी रहे और वह मंच से लेकर पंडाल तक में बड़ी संख्या में थे. ऐसे में अब रालोद के इस मामले में सक्रिय होने से सियासी माहौल गरमाया है.

श्रीकांत त्यागी मामले को लेकर त्यागी समाज के लोगों ने 14 सूत्रीय मांगों के समर्थन में रविवार को सेक्टर-101 रामलीला मैदान में महापंचायत की. इस दौरान 15 दिन में 14 सूत्रीय मांगों को मानने के लिए जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा. साथ ही, श्रीकांत त्यागी पर लगाई गई गंभीर धाराओं को हटाने के लिए करीब दो हफ्ते का अल्टीमेटम दिया गया. इसके बाद बड़े आंदोलन की चेतावनी दी.

बता दें, त्यागी समाज के लोगों ने रामलीला मैदान में भारी संख्या में पहुंचकर शक्ति प्रदर्शन किया. इसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, बिहार के त्यागी समाज के हजारों लोग पहुंचे.

गौरतलब है कि नोएडा के सेक्टर-93 बी में स्थित ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में 5 अगस्त को श्रीकांत त्यागी और सोसाइटी की एक महिला के बीच पौधों को लेकर हुए विवाद का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद महिला की शिकायत पर इस मामले में मुकदमा दर्ज हुआ. अगले दिन 6 अगस्त को पुलिस ने श्रीकांत त्यागी की पत्नी सहित अन्य परिवारजनों को हिरासत में ले लिया और उसकी कारों को सीज कर दिया. 7 अगस्त को इस मामले में त्यागी समाज के 6 युवकों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए, जबकि उनके 4 साथियों को फरार घोषित कर दिया गया. श्रीकांत पर भी 25 हजार का इनाम घोषित कर दिया गया. 9 अगस्त को श्रीकांत को उसके 4 साथियों के साथ मेरठ से गिरफ्तार किया गया. श्रीकांत और उसके कार चालक राहुल पर गैंगस्टर एक्ट भी लगा दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here