बड़ी खबरः अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक पर एक्शन, 3 कमांडो बर्खास्त, काबुल की मस्जिद में बम धमाका, 21 की मौत, 40 घायल

0
66

भाजपा ने नई संसदीय बोर्ड का किया गठन, नितिन गडकरी और शिवराज सिंह को हटाया

भाजपा ने बुधवार को नए संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का ऐलान किया. 11 सदस्यों वाले संसदीय बोर्ड से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को हटा दिया गया है. संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति में एक भी सीएम को भी जगह नहीं मिली है. इनमें कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, असम के पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्र में मंत्री सर्वानंद सोनोवाल, इकबाल सिंह लालपुरा, सुधा यादव, सत्यनारायण जटिया, के लक्ष्मण शामिल हैं. इनके अलावा बोर्ड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जेपी नड्डा, अमित शाह, राजनाथ सिंह और पार्टी के संगठन महासचिव बीएल संतोष को जगह मिली है. इसके साथ ही भाजपा ने 15 सदस्यों की केंद्रीय चुनाव समिति का गठन किया है. इसमें महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस, भूपेंद्र यादव, ओम प्रकाश माथुर और महिला मोर्चा की अध्यक्ष वनथी श्रीनिवास नए चेहरे के तौर पर चुनाव समिति में शामिल किए गए हैं. इनके अलावा इस टीम में पीएम मोदी, जेपी नड्डा, अमित शाह, राजनाथ सिंह के अलावा बीएस येदियुरप्पा, के लक्ष्मण, इकबाल सिंह लालपुरा, सुधा यादव, सत्यनारायण जटिया, बीएल संतोष को जगह दी गई है.

अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक पर एक्शन, 3 कमांडो बर्खास्त

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक के मामले में CISF के 3 कमांडो को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है. इसके अलावा DIG और कमांडेंट रैंक के दो अफसरों का ट्रांसफर कर दिया गया है. गृह मंत्रालय के अफसरों ने इसकी जानकारी दी है. मामला 16 फरवरी 2022 का है, जब एक संदिग्ध शख्स कार लेकर डोभाल के दिल्ली स्थित सरकारी आवास में घुसने की कोशिश कर रहा था. हालांकि मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया था. पकड़े जाने के बाद उसने कहा कि उसकी बॉडी में चिप लगी है और रिमोट से चलाया जा रहा है. जांच में उसकी बॉडी में कोई चिप नहीं मिली. पुलिस के मुताबिक उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं लग रही थी. दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने उससे पूछताछ की थी.

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की मस्जिद में बम धमाका, कम से कम 21 की मौत, 40 घायल

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की एक मस्जिद में हुए बम धमाके में कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई है. इस बम धमाके में करीब 40 लोग घायल बताए जा रहे है. उत्तरी काबुल की मस्जिद में धमाका तब हुआ जब लोग शाम कि इबादत के लिए इकट्ठा हुए थे. काबुल पुलिस के मुताबिक धमाका मस्जिद के अंदर हुआ. इसमें बहुत सारे लोग मारे गए हैं लेकिन सही संख्या अभी नहीं बताई जा सकती. धमाका इतना जोरदार था कि मस्जिद के आसपास के घरों के शीशे भी धमाके की वजह से टूट गए. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर सुरक्षाकर्मी और ऐंबुलेंस तुरंत पहुंच गई. बता दें, यह हमला तब हुआ है जब तालिबान अपना विजय सप्ताह बना रहा है. 15 अगस्त 2021 को तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया था.

आज और कल दो दिन होगी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, 19 अगस्त को ज्यादा शुभ

इस साल भी जन्माष्टमी दो दिन है. कुछ पंचांग में 18 को और कुछ में 19 अगस्त को जन्माष्टमी पर्व मनाने की सलाह दी गई है. श्रीकृष्ण का जन्म अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में हुआ था और ये दोनों ही योग आने वाले शुक्रवार को रहेंगे. इसलिए मथुरा, वृंदावन और द्वारका में जन्मोत्सव पर्व 19 अगस्त को मनेगा. कृष्ण तीर्थों में 19 को ये पर्व होने से इसी तारीख को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाना ज्यादा शुभ रहेगा. अखिल भारतीय विद्वत परिषद और काशी विद्वत परिषद का कहना है कि 18 तारीख को अष्टमी तिथि सूर्योदय के वक्त नहीं रहेगी बल्कि रात में रहेगी. वहीं, 19 तारीख को अष्टमी तिथि में ही दिन की शुरुआत होगी और रात में भी रहेगी. इसलिए शुक्रवार को ही भगवान का जन्मोत्सव मनाना बेहतर है. श्रीकृष्ण का जन्म नक्षत्र रोहिणी भी इसी रात को रहेगा. उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में जन्माष्टमी 19 अगस्त को ही मनाई जाएगी.

कांबली 30 हजार पेंशन से कर रहे गुजारा, बोले- कोई भी काम करने को तैयार है

दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के जिगरी दोस्त विनोद कांबली की माली हालत खराब है. वे बेरोजगार भी हैं और इन दिनों काम की तलाश कर रहे हैं. वे BCCI की 30 हजार रुपए की पेंशन के दम पर जी रहे हैं. कांबली ने अपने स्कूल के दिनों में सचिन तेंदुलकर के साथ रिकॉर्ड 664 रनों की साझेदारी कर क्रिकेट जगत में सनसनी मचा दी थी. 34 साल पहले की इस रिकॉर्ड साझेदारी में विनोद कांबली ने 349 रन और सचिन तेंदुलकर ने नाबाद 326 रन बनाए थे. इतना ही नहीं, कांबली ने अपने शुरुआती सात मैच में ही 793 रन बनाए थे. कांबली की मौजूदा स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वे मैदान पर कोई भी काम करने को तैयार हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here