Google-Facebook की निकली हेकड़ी, News कंटेंट के लिए चुकाने होंगे पैसे, ऑस्ट्रेलिया में बिल पारित, क्या होगा इसका असर?

0
140
Google-Facebook Latest News Australia latest News

विवादों में घिरे गूगल और फेसबुक को लेकर ऑस्ट्रेलियाई संसद ने एक ऐतिहासिक बिल पास किया है. ऑस्ट्रेलियाई सरकार के इस बिल के तहत अब ग्लोबल डिजिटल कंपनियों को वहां की लोकल खबरों के लिए पैसे देने होंगे. बता दें, न्यूज कंटेंट के लिए पैसे चुकाने को लेकर ऑस्ट्रेलियाई सरकार और गूगल-फेसबुक के बीच शुरू हुआ विवाद काफी सुर्खियों में रहा और ऑस्ट्रेलिया के इस कदम की काफी चर्चा भी हुई और दुनियाभर की इस पर नजरें थीं कि वो डिजिटल कंपनियों को कैसे नियमों के तहत बांधता है. फेसबुक और गूगल ने सीमा तय करने वाले नियमों का विरोध किया था, लेकिन आखिरी वक्त में ऑस्ट्रेलिया की तरफ से इन नियमों में कुछ ढील दी गई है, जिसके बाद दोनों कंपनियां लोकल मीडिया कंपनियों को पैसे चुकाने को तैयार हो गई हैं.

Netflix

इस नए कानून के आ जाने के बाद फेसबुक और गूगल को लोकल कंटेंट की डील्स में करोड़ों रुपए निवेश करने का मौका मिलेगा, वहीं न्यूज़ रेगुलेटर्स के साथ उनका चलने वाला विवाद भी खत्म होगा. गूगल को अब उन न्यूज कंटेंट के लिए पैसे देने होंगे, जो इसके “शोकेस” प्रॉडक्ट पर दिखाई देंगे, वहीं फेसबुक को अपने “न्यूज” प्रॉडक्ट में दिखाई देने वाले न्यूज कंटेंटे के पैसे चुकाने होंगे.

Netflix

नियामक संस्थाओं ने ऑनलाइन एडवर्टाइजिंग पर दबदबा रखने वाली इन कंपनियों पर आरोप लगाया था कि उन्होंने पारंपरिक न्यूज संस्थाओं की ओर आने वाले कैश फ्लो को प्रभावित किया है, जबकि ये कंपनियां उन्हीं का कंटेंट फ्री में इस्तेमाल करती हैं.

Netflix

कई बड़ी कंपनियों ने इस प्रस्ताव का विरोध किया था क्योंकि उन्हें डर था कि इससे उनका बिजनेस मॉडल प्रभावित होगा. खासकर उस प्रावधान का विरोध किया गया है, जिसमें कहा गया है कि इन टेक फर्म्स को, मीडिया कंपनियों के साथ नेगोसिएशन करना होगा और रकम का सेटलमेंट करने का अधिकार एक स्वतंत्र ऑस्ट्रेलियाई मध्यस्थ के पास होगा. हालांकि, सरकार ने इसपर संशोधन कर दिया है और कहा है कि कंपनियां अपने कॉर्मर्शियल नेगोसिएशन कोड के इतर कर सकती हैं.

गूगल को डर था कि अगर प्लेटफॉर्म्स को लिंक के लिए पैसे देने होंगे, तो इससे उसके सर्च इंजन की महत्ता खत्म हो जाएगी. वहीं, फेसबुक, जोकि न्यूज कंटेंट पर उतना निर्भर नहीं है- ने पहले कहा था कि न्यूज के लिए पैसे देने की जहमत वो नहीं उठा सकता. इसके बाद कंपनी ने अपने ऑस्ट्रेलियन यूजर्स के लिए न्यूज कंटेंट का एक्सेस ही बंद कर दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here