मुख्यमंत्री पद की शपथ के बाद एक्शन-ए-ममता, बंगाल में सख्त पांबंदियां लागू, जानिए कोविड-19 गाइडलाइंस

0
25
Covid-19 guidelines

पश्चिम बंगाल की बतौर मुख्यमंत्री तीसरी बार शपथ ग्रहण करने के बाद ममता बनर्जी ने राज्य में बढ़ रहे कोरोना मामलों की समीक्षा बैठक की. इस बैठक में बंगाल में पाबंदियां लागू करने का फैसला किया गया है. ममता ने इस समीक्षा बैठक के बाद कहा कि बंगाल के हिस्से की ऑक्सीजन कहीं और जा रही है और हम इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन का इस्तेमाल कर रहे हैं.

Covid-19 guidelines

ममता बनर्जी ने बताया कि कोरोना के हालात को देखते हुए राज्य में सभी स्पा, पार्लर, शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे, साथ ही सार्वजनिक या राजनीतिक कार्यक्रमों पर अगले आदेश तक रोक लगाई गई है. शादी समारोह में पुलिस की इजाजत के बाद 50 लोगों के शामिल होने की परमिशन दी जा सकती है, सभी बाजारों को बंद कर दिया गया है और रिटेल दुकानों को सिर्फ सुबह 7-10 और शाम को 5-7 खोलने की इजाजत होगी.

इसके अलावा बंगाल में अगले आदेश तक लोकल ट्रेन सेवा बंद कर दी गई है और मेट्रो समेत राज्य परिवहन सेवा आधी क्षमता के साथ संचालित करने के आदेश हैं. किसी भी यात्री को कोलकाता एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट के बगैर 7 मई आधी रात के बाद से एंट्री नहीं दी जाएगी. यह टेस्ट भी 72 घंटे के भीतर किया गया हो.

Covid-19 guidelines

वहीं, ममता बनर्जी ने कहा कि अब हमारे यहां मरीजों के लिए बेड की संख्या बढ़कर 30 हजार हो जाएगी. साथ ही राज्य में कोरोना वैक्सीन की सेकेंड डोज को प्राथमिकता दी जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारे हिस्से की ऑक्सीजन कोई और लेकर जाता है, हम इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन का इस्तेमाल कर रहे हैं.

ममता ने कहा कि RT-PCR टेस्ट के लिए तीन दिन का वक़्त लगता है और डेड बॉडी 3 से 4 दिन तक पड़ी रहती है. इसके लिए हमने अलग टेस्ट करने का सोचा है जो सिर्फ 4 घंटे में रिजल्ट देगा और मरीजों की लाश ऐसी ही पड़ी नहीं रहेगी. साथ ही उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन में पत्रकारों को वरीयता दी जाएगी क्योंकि वो लोगों के बीच ज्यादा रहते हैं.

Covid-19 guidelines

उधर, मुख्यमंत्री ने सूबे में हिंसा की घटनाओं को देखते हुए फिर से वीरेंद्र को सूबे का नया डीजीपी नियुक्त किया है. इसके अलावा जावेद शमीम को फिर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर की जिम्मेदारी दी गई है. इन दोनों ही अधिकारियों के चुनाव आयोग ने अन्य विभागों में भेज दिया था. इसके अलावा मुख्यमंत्री की ओर से सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को हिंसा रोकने के लिए कड़े कदम उठाने के आदेश दिए गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here