संघर्षविराम के बाद इजरायल ने हमास को दी चेतावनी, सख्त लहजे में चेताया

0
14
Israel

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच पिछले 11 दिन से जारी जंग पर आखिरकार विराम लग गया है। अब संघर्षविराम को लेकर दोनों पक्ष अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। सीजफायर के ऐलान के बाद फिलिस्तीनियों ने गाजा में सड़कों पर निकल कर जश्न मनाया। हमास ने इसे अपनी जीत बताई। दूसरी तरफ इजरायल ने इसे हमास के लिए झटका करार दिया। सीजफायर के ऐलान के बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि ‘ऑपरेशन गार्डियन ऑफ द वॉल्स’ हमास के लिए एक बड़ा झटका था।

हकीकत ये है कि यरुशलम में अल-अक्सा मस्जिद में झड़प से शुरू हुआ विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया था। 10 मई को अल-अक्सा मस्जिद में नामाजियों पर हमले और शेख जर्राह से फिलिस्तीनियों की बेदखली के विरोध में हमास ने इजरायल पर रॉकेट दागे। इजरायल ने जवाबी कार्रवाई की और हवाई हमले किए। हमले में 219 फिलिस्तीनी मारे गए और इजरायल में 11 लोग की जान चली गई। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कूटनीतिक प्रयासों के बाद इजरायल ने 21 मई को सीजफायर का ऐलान कर दिया।

ऐलान के बाद इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सख्त लहजे में कहा कि अगर हमास को लगता है कि उसके रॉकेट हमलों को हमने बर्दास्त किया तो वे गलत हैं। वे हमारी ताकत जानते हैं और हम उन्हें वर्षों पीछे ढकेल देते हैं। इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ ने कहा कि शांति भंग करने की बहुत बड़ी कीमत चुकानी होगी। इजरायली सुरक्षाबल के चीफ ऑफ स्टाफ लेफ्टिनेंट जनलर ने कहा कि हमास हमें ठीक से समझ नहीं पाया था, उसे इतना तगड़ा जवाब मिलेगा, जिसकी उसे उम्मीद नहीं थी।

बहरहाल दोनों पक्षों में सीजफायर के बीच हमास ने इजरायल को चेतावनी दी है। हमास ने कहा कि उसके पास मिसाइलों का भंडार है और आने वाले कई महीनों तक इजरायल पर भीषण हमले कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here