मरने के बाद न अपनों का कंधा नसीब हुआ और न ही चिता,वैसे ही कूड़े की तरह नदी में फेंक दिए गए शव ।

0
32

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here