देश-दुनिया की 10 अहम खबरें @12-02-2021

0
75

1. एंटी-नेशनल्स के खिलाफ साइबर आर्मी

सोशल मीडिया या इंटरनेट पर सरकार अब अपनी साइबर आर्मी उतारने की तैयारी कर रही है. सरकार ने इसे साइबर वॉलंटियर नाम दिया है. इनका काम सोशल मीडिया या इंटरनेट पर चल रही देश विरोधी गतिविधियों पर नजर रखना होगा और सरकार को इसकी रिपोर्ट देनी होगी. इसके बाद सरकार उस कंटेंट या पोस्ट के खिलाफ कोई कार्रवाई करेगी. गृह मंत्रालय ने इंडियन साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर (I4C) को इस पूरे काम के लिए नोडल एजेंसी बनाया है. सरकार ने साइबर वॉलंटियर की नियुक्ति का काम शुरू कर दिया है.

2. फेसबुक-ट्विटर पर सख्त हुई केंद्र सरकार

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर और फेसबुक को केंद्र सरकार ने सख्त चेतावनी दी. इलेक्ट्रॉनिक्स और IT मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में कहा कि अगर इससे फेक न्यूज और हिंसा को बढ़ावा मिलता है तो हम कार्रवाई करेंगे. सदन में प्रसाद ने कहा कि ये कैसे हो सकता है कि कैपिटल हिल्स (अमेरिकी संसद) पर हिंसा के लिए कुछ और नियम अपनाए जाएं और लाल किले पर हुई हिंसा के लिए अलग? अलग-अलग देशों के लिए अलग-अलग पैरामीटर हमें मंजूर नहीं हैं.

3. शाह बोले- कोरोना खत्म होने के बाद CAA लागू होगा

गृह मंत्री अमित शाह गुरुवार को पश्चिम बंगाल के दौरे पर पहुंचे. ठाकुरनगर की रैली में उन्होंने कहा कि हम नागरिकता संशोधन कानून (CAA) लेकर आए, लेकिन बीच में कोरोना आ गया. ममता दीदी कहने लगी कि ये झूठा वादा है. उन्होंने कहा कि हम जो कहते हैं, वो करते हैं. जैसे ही कोरोना वैक्सीनेशन पूरा होगा, आप सभी को नागरिकता देने का काम भाजपा सरकार करेगी.

4.लोकसभा में राहुल बोले- हम दो हमारे दो देश चला रहे

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को लोकसभा में बजट पर चर्चा के दौरान कृषि कानूनों का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि तीनों कानूनों के जरिए उन्होंने किसानों को ऑप्शन दिए हैं, लेकिन उनका पहला ऑप्शन भूख, दूसरा बेरोजगारी और तीसरा आत्महत्या है. राहुल ने कहा कि सालों पहले फैमिली प्लानिंग में नारा था- हम दो और हमारे दो. आज क्या हो रहा है, जैसे कोरोना दूसरे रूप में आता है, वैसे ही ये भी नए रूप में आ रहा है. अब 4 लोग देश चला रहे हैं, उनका नारा है हम दो हमारे दो.

5.मौत की टनल में जिंदगी की तलाश जारी

चमोली के तपोवन में हुए हादसे का गुरुवार को पांचवां दिन था. NTPC की टनल में फंसे 39 वर्कर्स को बचाने की कोशिशें लगातार जारी हैं. गुरुवार दोपहर को ऋषिगंगा नदी का जलस्तर बढ़ने पर कुछ देर के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन रोकना पड़ा था. इसके बाद चुनिंदा मेंबर्स की टीम के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन फिर से शुरू किया गया. गुरुवार को सेना के चिनूक हेलिकॉटर से रेस्क्यू के लिए भारी मशीनरी और मैन पावर को चमोली पहुंचाया गया.

6.लद्दाख में पीछे हटीं भारत-चीन की सेनाएं

पिछले साल जून में गलवान घाटी में भारत के 20 जवानों की शहादत के 8 महीने बाद चीन के साथ समझौता हो गया है. लद्दाख की पैंगॉन्ग लेक के उत्तरी इलाके से दोनों देशों की सेनाएं पीछे हटना शुरू हो गई हैं. खुद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में गुरुवार सुबह 10.30 बजे यह जानकारी दी. साथ ही यह दावा भी किया कि इस समझौते से भारत ने कुछ नहीं खोया है.

7. महाराष्ट्र में गवर्नर को नहीं मिला सरकारी प्लेन

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को मुंबई से उत्तराखंड जाने के लिए सरकारी विमान नहीं दिया गया. इसके चलते विमान में बैठ चुके कोश्यारी को दूसरी फ्लाइट में टिकट लेकर जाना पड़ा. दरअसल, महाराष्ट्र और गोवा के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को 12 फरवरी को मसूरी की लाल बहादुर शास्त्री IAS एकेडमी के एक कार्यक्रम में पहुंचना था.

8.महंगे डीजल-पेट्रोल से राहत की उम्मीद नहीं

पेट्रोल-डीजल के रेट आए दिन रिकॉर्ड बना रहे हैं. इनकी कीमतों में गुरुवार को लगातार तीसरे दिन बढ़ोतरी हुई. फरवरी में अब तक पेट्रोल-डीजल के रेट में 5 बार बढ़ोतरी हुई है. इससे पहले जनवरी में रेट 10 बार बढ़े थे. आने वाले दिनों में भी इनकी कीमतों में कमी होने के आसार नहीं हैं, क्योंकि क्रूड की मांग बढ़ने से इसका रेट लगातार बढ़ रहा है. इधर, सरकार ने भी पेट्रोल-डीजल पर टैक्स घटाने से इनकार कर दिया है.

9.इंदौर में बुजुर्गों से फिर अमानवीयता

इंदौर में नगर निगम के बाद अब स्वास्थ्य विभाग ने बुजुर्गों के साथ शर्मसार करने वाला बर्ताव किया है. देपालपुर से मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराने के लिए मंगलवार को 150 बुजुर्गों को दो बसों में भरकर लाया गया. चोइथराम अस्पताल की ये दोनों बसें 32-32 सीटर थीं. ठसाठस भरी बसों में जितने बुजुर्ग बैठे थे, उनसे कहीं ज्यादा खड़े हुए थे. करीब 40 किलोमीटर के सफर में ये बुजुर्ग एक-दूसरे पर गिरते-पड़ते रहे. करीब दो हफ्ते पहले इंदौर नगर निगम के कर्मचारियों ने बुजुर्गों को मवेशियों की तरह डंपर में भरकर शहर से बाहर ले जाकर छोड़ दिया था.

10.रहाणे विदेश में पास, भारत में फेल

ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की मुश्किल परिस्थितियों में जिन बल्लेबाजों से टीम इंडिया को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होती है, उनमें अजिंक्य रहाणे का नाम काफी ऊपर आता है. मेलबर्न में दो शतक के अलावा लॉर्ड्स (इंग्लैंड), वेलिंगटन (न्यूजीलैंड) और किंग्सटन (जमैका, वेस्टइंडीज) में खेली शतकीय पारियां इस बात को पुख्ता करती हैं कि फास्ट, स्विंग और बाउंसी कंडीशंस के लिए रहाणे की तकनीक बेहतरीन है, लेकिन इसका एक दूसरा पहलू भी है. रहाणे भारतीय पिचों पर स्ट्रगल करते रहे हैं. भारत में 28 टेस्ट मैच खेल कर वे सिर्फ 1494 रन बना सके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here