लालकिला हिंसा : दीप सिद्धू ने खोले कईं राज, बताया कैसे की गई थी प्लानिंग!

0
92

नए कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले में हुई हिंसा की घटना के आरोपी दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दीप सिद्धू पर दिल्ली पुलिस ने 1 लाख रुपये का इनाम रखा हुआ था. सिद्धू को स्पेशल सेल ने पंजाब के जिरकपुर से गिरफ्तार किया. वहीं पूछताछ के दौरान दिल्ली में 26 जनवरी को हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार दीप सिद्धू ने कईं खुलासे किए हैं.

भावुक होकर किसानों के साथ जुड़ा था दीप सिद्धू

सिद्धू ने दावा किया कि वह भावुक होकर किसानों के साथ जुड़ गया था. उन्होंने यह भी बताया कि जब वह विरोध स्थलों पर जाता था तो युवा बड़ी संख्या में आते थे. गणतंत्र दिवस परेड से कुछ दिन पहले सिद्धू ने अपने समर्थकों के साथ निर्धारित मार्ग को तोडऩे का फैसला किया. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान और बाद में मुझे कोई काम नहीं मिला था और अगस्त में जब किसान आंदोलन पंजाब में शुरू हुआ, तो वह इसके प्रति आकर्षित हो गया.

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में घायल हुए थे 500 से अधिक पुलिसकर्मी

पुलिस सूत्रों ने बताया सिद्धू एक महिला मित्र के साथ संपर्क में था जो कैलिफोर्निया में रहती है. वह वीडियो बना कर उसे भेजता था और वह सिद्धू के फेसबुक अकाउंट पर उन्हें अपलोड करती थी. उन्होंने बताया कि गिरफ्तारी से बचने के लिए सिद्धू लगातार जगह बदल रहा था. पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के मामले में अभिनेता दीप सिद्धू तथा तीन अन्य की गिरफ्तारी पर एक लाख रुपए के नकद पुरस्कार की घोषणा भी की थी.

क्या आरोप लगे हैं दीप सिद्धू पर

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे और एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी. घटना के बाद से सिद्धू सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर रहा था. 26 जनवरी को बहुत से प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर चलाते हुए लाल किले तक पहुंच गए थे और उन्होंने वहां एक ध्वजस्तंभ में धार्मिक झंडा लगा दिया था. लाल किले पर हुई हिंसा मामले में दर्ज प्राथमिकी में पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने दो कॉस्टेबल से बीस कारतूसों के साथ दो मैग्जीन छीन ली थी, उन्होंने वाहनों को क्षतिग्रस्त किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here