बीजेपी सांसद का आरोप- 3 मुख्यमंत्री करते हैं फंडिंग, किसान नहीं हैं आंदोलनकारी, पैसे के लिए करते हैं प्रदर्शन

0
75

बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन पर बैठे लोग किसान नहीं हैं और उन्हें तीन मुख्यमंत्रियों की तरफ से फंडिंग दी जा रही है. बिधूड़ी के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला तीन कृषि कानून कोई धार्मिक लेख नहीं हैं, जिन्हें बदला न जा सके. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर किसान इन कानूनों को रद्द करवाना चाहते हैं तो आप उनसे बात करके इसे मानते क्यों नहीं हैं.

लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा की शुरुआत करते हुए बिधूड़ी ने कहा, वे लोग (आंदोलनकारी) सीपीआई और सीपीएम के नेता हैं. उन्होंने किसान आंदोलन पर बात करने के दौरान यह नहीं बताया कि वे प्रदर्शनों की फंडिंग कर रहे तीन मुख्यमंत्री कौन हैं. हालांकि, उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे पर शकुनी का काम कर रही है और किसानों को भटका रही है. बिधूड़ी के बयान का भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने भी समर्थन किया. उन्होंने कहा कि किसानों को खुले बाजार से फायदा होगा.

नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के अध्यक्ष ने किसान आंदोलन के मुद्दे पर कहा कि यह कोई खुदाई किताब नहीं है, जिसमें बदलाव न किए जा सकें. उन्होंने केंद्र सरकार से धार्मिक आधार पर भेदभाव नहीं करने की अपील करते हुए कहा कि आपको क्या लगता है कि राम सिर्फ आपके हैं? राम पूरी दुनिया के हैं. वे हम सबके हैं. यह उसी तरह है जैसे मुस्लिमों ने कुरान को अपने सीने से लगा रखा है. कुरान भी सभी के लिए है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here