किसान आंदोलन : गाजीपुर बॉर्डर पर अनशन के बाद टिकैत के लिए आया पानी, किसान बोले- पूरे गाजियाबाद को पानी से भर देंगे

0
605

मेरठ के गांव-गांव से रवाना हो रहे किसान

गाजीपुर बार्डर की ओर मेरठ के गांव-गांव से किसान आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर आने की तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं. जिसके चलते दिल्ली से सटे इलाकों में बैचेनी साफ देखी जा सकती है.

गाजियाबाद प्रशासन ने प्रदर्शनकारी किसानों को बृहस्पतिवार आधी रात तक यूपी गेट खाली करने का अल्टीमेटम दिया है वहीं किसान नेता राकेश टिकैत अपनी मांग पर अड़े रहे और कहा कि वह आत्महत्या कर लेंगे लेकिन आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे.

सिंधू बॉर्डर जैसे बनने लगे हैं हालात

राकेश टिकैत की ओर से ऐलान किया गया था कि वो अनशन की शुरुआत कर रहे हैं और जबतक उनके गांव से ही पानी नहीं आएगा तो वो पानी नहीं पिएंगे जिसके बाद नेता राकेश टिकैत के लिए उनके गांव से पानी आया है. किसानों का कहना है कि हम पूरे गाजियाबाद को ही पानी से भर देंगे.

गाजीपुर सीमा पर स्थिति हो गई थी तनावपूर्ण

गाजीपुर सीमा पर गुरुवार देर रात स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी. गाजियाबाद प्रशासन द्वारा इलाके में और उसके आसपास निषेधाज्ञा लागू किए जाने के बाद दंगों को रोकने के लिए सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था. किसान नेताओं ने प्रशासन पर जरूरी नागरिक सुविधाओं रोकने तथा बिजली और जलापूर्ति बंद करने का आरोप लगाया है.

सिसोदिया गाजीपुर बॉर्डर, जैन और चड्ढा सिंघु बॉर्डर जाएंगे

वहीं राकेश टिकैत धरने पर अड़ने के बाद उन्हें अब राजनीतिक दलों का समर्थन भी मिल रहा है. गाजीपुर बॉर्डर पर शुक्रवार सुबह से ही बड़ी संख्या में किसानों का आना जारी है. हजारों की संख्या में किसान गाजीपुर बॉर्डर पहुंच रहे हैं. इस सिलसिले में आज दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों से मिलने के लिए गाजीपुर बॉडर्र जाएंगे. जबकि सत्येंद्र जैन तथा राघव चड्ढ़ा सिंघु बॉडर्र जाएंगे. आम आदमी पार्टी ने आज यह जानकारी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here